Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

आज के चर्चित स्टॉक्स

कौन से हैं वो शेयर जिन पर होगी आज बाजार की नजर।
अपडेटेड Jan 31, 2013 पर 09:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कौन से हैं वो शेयर जिन पर होगी आज बाजार की नजर।


एसबीआई
बैंक ने बेस रेट 0.05 फीसदी घटाया। 


यूनिटी इंफ्रा
कंपनी को महाराष्ट्र के सोलापुर में 235 करोड़ रुपये का रोड प्रोजेक्ट मिला। 


रिलायंस पावर
सीईआरसी ने मध्यप्रदेश के सासन यूएमपीपी से टैरिफ बढ़ाने की अर्जी मंजूर की।


सुजलॉन एनर्जी
इनसाइडर ट्रेडिंग मामले में सेबी ने डायरेक्टर, कंपनी के सेक्रेटरी के खिलाफ कंसेंट ऑर्डर जारी किया। क्योंकि इन सबने मिलकर 12 लाख रुपये का भुगतान कर दिया।  
 
अंबुजा सीमेंट, एसीसी
कॉम्पैक्ट में सीसीआई के खिलाफ सीमेंट कंपनियों की अर्जी पर सुनवाई टली। अब अगली सुनवाई की 18-20 फरवरी के बीच होगी।    


ऑयल इंडिया
सरकार ओएफएस के जरिए शुक्रवार को 6 करोड़ शेयर बेचेगी।


ईआईएच
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में ईआईएच की बिक्री 2 फीसदी बढ़कर 318.3 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 312.5 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में ईआईएच का मुनाफा 27 फीसदी घटकर 32.8 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 45.3 करोड़ रुपये रहा था।

जी लर्न
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में जी लर्न का राजस्व 13 फीसदी बढ़कर 21.5 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का राजस्व 19 करोड़ रुपये रहा था। 


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में जी लर्न ने 8 करोड़ रुपये का घाटा दिखाया है। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी को  2.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।


ग्रीव्ज कॉटन
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में ग्रीव्ज कॉटन का मुनाफा मामूली बढ़कर 34.4 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में ग्रीव्ज कॉटन का मुनाफा 34.2 करोड़ रुपये था।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में ग्रीव्ज कॉटन की आय 11 फीसदी बढ़कर 516 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में ग्रीव्ज कॉटन की आय 465 करोड़ रुपये रही थी।

डिगजैम
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में डिगजैम को 3 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी ने 5.2 करोड़ रुपये का घाटा दिखाया था। 


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में डिगजैम की बिक्री 7.69 फीसदी घटकर 30 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 32.5 करोड़ रुपये रही थी।


एसजेवीएन
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में एसजेवीएन का मुनाफा 1.26 फीसदी बढ़कर 192 करोड़ रुपये रहा। पिछली तिमाही में कंपनी का मुनाफा 189.6 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में एसजेवीएन की बिक्री 2.77 फीसदी घटकर 358 करोड़ रुपये रही। पिछली तिमाही में कंपनी की बिक्री 368.2 करोड़ रुपये रही थी।


इसके अलावा वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में एसजेवीएन का एबिटा साल दर साल आधार पर 142.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 191.5 करोड़ रुपये रहा।


सेंचुरी एंका
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में सेंचुरी एंका का मुनाफा 10 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी ने 10 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया था। 


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में सेंचुरी एंका की बिक्री 8.47 फीसदी घटकर 378 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 413 करोड़ रुपये रही थी।


इंडो रामा
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में इंडो रामा का मुनाफा 1.8 करोड़ रुपये रहा। जबकि पिछली तिमाही में कंपनी ने 32 करोड़ रुपये का घाटा दिखाया था।


वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में इंडो रामा की बिक्री 9.08 फीसदी घटकर 694.6 करोड़ रुपये रही। पिछली तिमाही में कंपनी की बिक्री 764 करोड़ रुपये रही थी।


उषा मार्टिन
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में उषा मार्टिन का मुनाफा 18.28 फीसदी बढ़कर 30.4 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 25.7 करोड़ रुपये रहा था। 


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में उषा मार्टिन की आय 8.9 फीसदी बढ़कर 889 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 816.3 करोड़ रुपये रहा था।


गुजरात फ्लुरोकेमिकल्स
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में गुजरात फ्लुरोकेमिकल्स का मुनाफा 67.26 फीसदी घटकर 71.7 करोड़ रुपये रहा। पिछली तिमाही में कंपनी का मुनाफा 219 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में गुजरात फ्लुरोकेमिकल्स की बिक्री 36.6 फीसदी घटकर 363.8 करोड़ रुपये रही। पिछली तिमाही में कंपनी की बिक्री 573.9 करोड़ रुपये रही थी।


मर्क
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में मर्क का मुनाफा 58.7 फीसदी बढ़कर 20 करोड़ रुपये रहा। पिछली तिमाही में कंपनी का मुनाफा 12.6 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में मर्क की बिक्री 27.4 फीसदी बढ़कर 161.2 करोड़ रुपये रही। पिछली तिमाही में कंपनी की बिक्री 126.5 करोड़ रुपये रही थी।


कल्याणी फोर्ज
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कल्याणी फोर्ज का मुनाफा 70 फीसदी घटकर 1.2 करोड़ रुपये रहा। पिछली तिमाही में कंपनी का मुनाफा 4 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कल्याणी फोर्ज की बिक्री 10.98 फीसदी बढ़कर 60.8 करोड़ रुपये रही। पिछली तिमाही में कंपनी की बिक्री 68.3 करोड़ रुपये रही थी।


वीडियो देखें