Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड विश्लेषण

म्यूचुअल फंड- कैसे करें निवेश?

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए आपके पास कुछ बुनियादी जानकारी होना जरूरी है।
अपडेटेड Aug 19, 2010 पर 10:48  |  स्रोत : Hindi.in.com

19 अगस्त 2010

सीएनबीसी आवाज़


 


 


अगर आपको लगता है कि आपके पास पैसा निवेश करने के लिए जरूरी जानकारी, समय या कौशल नहीं है, तो आपके लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करना सबसे अच्छा विकल्प है। म्यूचुअल फंड में निवेश करने से आपको पेशेवर निवेश सलाहकारों सेवाओं के साथ आपको अपने पैसा पर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न का फायदा मिलेगा। 



 


 


म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए आपके पास कुछ बुनियादी जानकारी होना है, जिससे आपको ज्यादा से ज्यादा मुनाफा मिल पाए।


 


 


1. म्यूचुअल फंड में निवेश क्यों है फायदेमंद?


म्यूचुअल फंड में निवेश से आप पेशेवर निवेश सलाहकार की सेवाओं का फायदा पा सकते हैं। सब लोगों के पास पेशेवर निवेश सलाहकारों जैसा कौशल नहीं होता है। साथ ही, म्यूचुअल फंड विनियति होते हैं, जिससे उनके प्रदर्शन और विश्वसनियता की जानकारी पाना आसान होता है। 


 


 


फायदेमंद निवेश करने का सही मापदंड नहीं है। बदलते वक्त और परिस्थितिओं के साथ निवेश की रणनीति में बदलाव करना जरूरी है। बैश्विक अर्थव्यवस्था, ब्याज दरें, मुद्रा में उतार-चढ़ाव, जैसे कई पहलुओं को ध्यान में रखकर पोर्टफोलिओ में फेर-बदल करने पड़ते हैं, जो पेशेवरों के लिए ही संभव है।


 


 


म्यूचुअल फंड निवेश से जुड़े जोखिम को कम करते हैं। म्यूचुअल फंड निवेश का एक ही विकल्प का इस्तेमाल नहीं करते हैं। बेहतर रिटर्न के साथ साथ कम जोखिम का फायदा म्यूचुअल फंड में निवेश करके मिलता है।


 


 


 


2. कैसे करें म्यूचुअल फंड का चुनाव

म्यूचुअल फंड चुनते वक्त इन बातों पर ध्यान देना जरूरी है-




- आपको कितना रिटर्न चाहिए और कितना जोखिम उठा सकते हैं, म्यूचुअल फंड चुनते हुए ध्यान में इन बातों को ध्यान में रखना चाहिए। अलग-अलग म्यूचुअल फंड में अलग-अलग रिटर्न-जोखिम का मेल होता है। जो आपके पैमाने पर सही उतरे, उसी म्यूचुअल फंड को चुनिए।


 




- पिछले रिटर्न से आप म्यूचुअल फंड के प्रदर्शन के बार में जान सकते हैं। चुनाव करने से पहले अलग अलग अवधियों में  म्यूचुअल फंडों की प्रदर्शनी की सूची बनाएं। उसके बाद ही म्यूचुअल फंड चुने।


 


 


- किसी भी एक म्यूचुअल फंड में निवेश न करें। दो या तीन म्यूचुअल फंडों में निवेश करने से आपको ज्यादा मुनाफा मिल पाएगा। दो म्यूचुअल फंड में निवेश 60:40 के हिसाब से करें। तीन म्यूचुअल फंड होने पर 50:30:30 का फॉर्मूला अपनाएं।


 


 


- म्यूचुअल फंड में निवेश करने की लागत का भी ध्यान रखें। मैनेजमेंट फीस, वार्षिक शुल्क, आदि से रिटर्न का एक बड़ा हिस्सा आपको म्यूचुअल फंड को चुकाना पड़ सकता है। 1 फीसदी की मैनेजमेंट फीस और 0.6 फीसदी वार्षिक फीस उचित हैं। म्यूचुअल फंड की एंट्री और एक्जिट फीस को भी ध्यान रखें।


 


 


 


3. निवेश के बाद नजर रखें और समीक्षा करें

निवेश करने के बाद म्यूचुअल फंड के प्रदर्शन पर नजर रखना बहुत जरूरी है। इससे आपको पता चल सकेगा कि म्यूचुअल फंड आपकी उम्मीदों के मुताबिक रिटर्न दे रहा है कि नहीं।


 


 


म्यूचुअल फंड का प्रदर्शन के मुताबिक फैसला करना चाहिए कि आप निवेश कायम रखना चाहते हैं या बेचना। म्यूचुअल फंड बेचना सही है जब -



- आपकी निवेश से उम्मीदें बदली हों। ज्यादा रिटर्न से आप कम जोखिम वाले म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहते हों।



- म्यूचुअल फंड ने निवेश की रणनीति में बदलाव किया जो आपके उम्मीदों पर खरी न उतरें।



- म्यूचुअल फंड का लगातार खराब प्रदर्शन।




अगर आप इन सब बातों का ध्यान रखतें हैं, तो म्यूचुअल फंड में निवेश करके आप अपने पैसे में इजाफा होते देख सकेंगे।


 


 


डिस्क्लेमर: लेख लिखते वक्त सभी जानकारी को सावधानी से जांचा गया है। लेकिन, किसी व्यक्ति को होने वाले नुकसान की स्थिति में वेबसाइट जिम्मेदार नहीं है।