Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

रियल एस्टेट टीवी: प्रॉपर्टी से जुड़ी अहम खबरें

प्रकाशित Tue, 27, 2013 पर 19:03  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पिछले कुछ सालों से विदेश में प्रॉपर्टी खरीदने का रुझान काफी प्रसिद्ध हो गया है। सरकार की तरफ से विदेश में प्रॉपर्टी निवेश की सीमा बढ़ाने के बाद भारतीय निवेशक अमेरिका, लंदन, सिंगापुर और दुबई जैसे मार्केट में बढ़-चढ़कर प्रॉपर्टी खरीद भी रहे थे। लेकिन, अब डॉलर को देश से बाहर जाने से रोकने की कोशिश में रिजर्व बैंक ने विदेश में प्रॉपर्टी खरीदने पर पाबंदी लगा दी है। हांलाकि आरबीआई का ये कदम देसी प्रोपर्टी बाजार के लिए बूस्टर डोस का काम कर सकता है।


अगर आप बंगलुरु में प्रॉपर्टी में निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो अब आपको कुछ बातों का ख्याल रखना होगा। बंगलुरु के सर्किल रेट को इसी महीने से रिवाइज कर दिया गया है। नये रेट के मुताबिक प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशनल महंगा होगा, जिससे जमीन की कीमत 30-50 फीसदी तक बढ़ेंगी। इन नये सर्किल रेट को कनार्टक के 25 जिलों में लागू कर दिया गया है।


बंगलुरु के प्रॉपर्टी रेट पर इसका कितना असर पड़ेगा, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि विठ्ठल माल्या रोड पर स्थित यूबी टॉवर्स पर प्रॉपर्टी रेट 20,150 रुपये प्रति वर्गफीट से बढ़ाकर 20,350 रुपये प्रति वर्गफीट हो गया है। सर्किल रेट में हुए इन बदलावों के चलते उम्मीद की जा रही है कि राज्य सरकार के राजस्व में 1,500 करोड़ रुपये का इजाफा होगा।


मुंबईवासियों के लिए अब प्रॉपर्टी टैक्स कैल्कुलेट करना आसान हो गया है। बृहन्मुंबई म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) ने अपनी वेबसाइट पर एक ऑनलाइन प्रॉपर्टी टैक्स कैल्कुलेटर लॉन्च किया है। इस कैल्कुलेटर के अंदर प्रॉपर्टी टैक्स कैल्कुलेट करने का फॉर्मुला और ढ़ेरों रेडी रेकनर रेट दिए हुए हैं।


ये कैल्कुलेटर प्रॉपर्टी टैक्स का कैल्कुलेशन 1 साल में एक प्रॉपर्टी से कितनी कमाई हुई है, इस आधार पर करता है। तो अगर आप प्रॉपर्टी टैक्स भरने की बीएमसी की दी हुई 30 सितंबर की आखिरी तारीख तक अपना टैक्स भरना चाहते हैं तो ये कैल्कुलेटर आपकी काफी मदद करेगा।


नामी डेवलपर लोढ़ा ग्रुप ने एक नये प्रोजेक्ट को लॉन्च किया है। लेकिन ये कोई नया रेजिडेंशियल प्रोजेक्ट नहीं है बल्कि ये है एक गार्डन। मुंबई में ऐश्वर्या राय बच्चन ने इस गार्डन की आधारशिला रखी। द पार्क नाम का ये गार्डन 7 एकड़ में फैला होगा और लोढ़ा के लोअर परेल में डीएलएफ से खरीदी गई जमीन पर बनने वाले प्रोजेक्ट ब्लू मून भी उसका हिस्सा होगा।


सस्ते मकानों का बिजनेस मोडेल 2008-09 के मंदी में धमाके से शुरू हुआ। लेकिन, अब इस बिजनेस को एक धक्का लगा है। नामी रियल्टी कंपनी टाटा हाउसिंग को अपना एक अफोर्डेबल हाउजिंग प्रोजेक्ट रद्द करना पडा है क्योंकि उसके अप्रूवल मिलने में बहुत ज्यादा समय लग रहा था। अप्रूवल के इस भंवर में फंसा ये इकलौता प्रोजेक्ट नहीं है। इस सेगमेंट पर लॉन्च हुई एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक प्रोजेक्ट के लिए जरूरी मंजूरियां मिलना सस्ते मकान बना रहे डेवलपर की नंबर 1 समस्या है।


वीडियो देखें