स्वास्थ्य बीमा से जुड़ी उपयोगी बातें -
Moneycontrol » समाचार » बीमा

स्वास्थ्य बीमा से जुड़ी उपयोगी बातें

प्रकाशित Sat, 28, 2010 पर 13:29  |  स्रोत : Hindi.in.com

28 अगस्त 2010

सीएनबीसी आवाज़




इस समय बीमा कराने के प्रति लोगों को और जागरुक होने की आवश्यकता है। इसे निवेश के नज़रिये से ना देखकर बुनियादी जरूरत के रूप में देखना चाहिये। आपकी सालाना आय से 4 गुना ज्यादा का बीमा कवर होना चाहिये जिससे आपको कुछ होने की सूरत में आपके परिवार पर कोई आंच ना आये।



बजाज कैपिटल के सीईओ अनिल चोपड़ा का कहना है कि आमतौर बीमा कंपनियां गृहणियों का बीमा करने में हिचकिचाती हैं क्योंकि उनकी अपनी आय का कोई साधन नहीं होता है। अगर गृहिणी का बीमा नहीं भी है तो वो पति की कमाई के आधे का बीमा कवर ले सकती है।


बीमा कंपनियों का मानना है कि घर का खर्च चलाने के लिए कमाई करने वाले का बीमा होना चाहिए।


इस समय बाज़ार में लगभग 17-18 कंपनियां हेल्थ इंश्योरेंस कर रही हैं लेकिन पिछले कुछ समय से इसमें विवाद के चलते अब बीमा कंपनियां हेल्थ इंश्योरेंस के लेकर ज्यादा उत्साहित नहीं हैं क्योंकि उनके मुताबिक इसमें क्लेम होने पर प्रीमियम मिलने से ज्यादा राशि देनी पड़ती है। बीमा कंपनियों के लिये हेल्थ इंश्योरेंस घाटे का सौदा साबित हो रहा है।


सरकारी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों के प्रीमियम कुछ कम हैं और इनमें अच्छे प्लान भी हैं। इरडा के नियमों के मुताबिक कंपनियां हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के 3 साल के बाद इसमें प्रीमियम बढ़ा सकती हैं


बिड़ला ड्रीम एंडाओमेंट प्लान भी बाज़ार में एक बढ़िया प्लान के रूप में देखा जा रहा है क्योंकि बीमा के एंडोमेंट प्लान के साथ इसमें ज्यादा बीमा सुविधा भी मिलती है। ये एक शुद्ध टर्म प्लान ना होकर जोखिम कवर की सुविधा भी देती है। प्रीमियम भी कम है और इसमें 50,000 का सम एश्योर्ड है।


बीमा करने के लिये कुछ विकल्पों के नाम में बीएसएलआई हाई नेटवर्थ टर्म प्लान में पूरी वित्तीय सुरक्षा मिलती है। इसमें पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाने पर परिवारजनों को 50 लाख की रकम मिलती है। साथ ही इसमें राइडर्स की सुविधा भी मिल रही है।



वीडियो देखें