Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

वैश्विक संकेत कमजोर, बाजार जाएंगे किस ओर

कुंज बंसल के अनुसार क्यूई3 में आगे और कमी की आशंकाओं से समूचे वैश्विक बाजार पर दबाव है।
अपडेटेड Feb 04, 2014 पर 13:29  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

भारतीय बाजारों को लगातार कमजोरी का सामना करना पड़ा रहा है। सोमवार को सप्ताह का पहला कारोबारी सत्र भी भारतीय बाजारों के लिए निराशाजनक ही रहा। वैश्विक-घरेलू दोनों की स्तरों से बाजार के लिए कुछ ठीक नहीं चल रहा है। ऐसे में आगे कैसी रहेगी बाजार की चाल बता रहे हैं सेंट्रल वेल्थ मैनेजमेंट के ईडी-सीआईओ कुंज बंसल।


कुंज बंसल के अनुसार अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा क्यूई को लेकर फैसले, वहीं आगे इसमें और कमी किए जाने की आशंकाओं से समूचे वैश्विक बाजार पर दबाव की स्थिति देखी जा रही है। इसी के चलते भारतीय बाजारों में भी गिरावट देखी जा रही है। इसके अलावा घरेलू स्तर से बाजारों के लिए संकेत नकारात्मक ही रहे हैं। कंपनियों के तीसरी तिमाही के नतीजे ज्यादा उत्साहजनक नहीं रहने से भी बाजार निराश हैं। हालांकि आगे चुनाव के मद्देनजर बाजार में तेजी देखने को मिलेगी। ऐसे में निवेशकों को बाजार की मौजूदा गिरावट का फायदा उठाकर खरीदारी करना चाहिए।


निवेशकों को ऐसे में शेयरों में खरीदारी से बचना चाहिए, जिनके फंडामेंट्स कमजोर हैं। एचसीएल टेक, डीवीज लैब बेहतर लग रहे हैं इनमें खरीदारी के मौके ढूंढे जा सकते हैं। बैंकिंग में एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक,  में मौजूदा स्तरों पर खरीदारी की जा सकती है। लार्ज कैप इंफ्रा में एलएंडटी काफी पसंद आ रहा है, जबकि मिडकैप इंफ्रा में थर्मेक्स में खरीदारी के मौके दिखाई दे रहे हैं।


निचले स्तरों पर एसबीआई 1,480-90 के आसपास मिलता है तो खरीदारी की जा सकती है। सीमेंट सेक्टर की बात की जाए तो लार्ज कैप में अल्ट्राटेक बेहतर लग रहा है। एसीसी, अंबुजा सीमेंट में खरीदारी से बचना चाहिए। इसके अलावा मिडकैप सीमेंट शेयरों में मद्रास सीमेंट,श्री सीमेंट में निचले स्तरों पर खरीदारी करनी चाहिए।


वीडियो देखें