Moneycontrol » समाचार » ब्रोकर रिपोर्ट - बाजार

Covid-19 अभी भी Pharma Sector के लिए अपसाइड ट्रिगर, मिड टर्म में ये 10 Pharma Stocks देंगे 20% से 40% तक रिटर्न

कोरोना वायरस महामारी के कारण डिमांड बढ़ने से 2020 फार्मा कंपनियों के लिए शानदार साबित हुआ, वहीं 2021 भी जबरदस्त रहने की उम्मीद है
अपडेटेड Feb 27, 2021 पर 09:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस महामारी के कारण डिमांड बढ़ने से 2020 फार्मा कंपनियों के लिए शानदार साबित हुआ, वहीं 2021 भी जबरदस्त रहने की उम्मीद है। बाजार विशेषज्ञों को उम्मीद है कि अगले 2-3 साल फार्मा सेक्टर के लिए बेहतरीन रहने वाले हैं। उनका मानना है कि Covid-19 अभी भी फ्रार्मा स्टॉक्स के लिए अपसाइड ट्रिगर का काम करेगा। मार्केट एक्सपर्ट्स और एनालिस्ट्स के मुताबिक, फार्मा सेक्टर में जिन निवेशकों ने पिछले 3 वर्षों में निवेश किया है, उन्हें कोरोना वायरस महामारी के बाद उपजी स्थिति और मार्केट रैली से अच्छा मुनाफा हुआ है। यह मुनाफा और बढ़ने की उम्मीद है।

HDFC Securities ने की रिपोर्ट के मुताबिक, फार्मा सेक्टर की अर्निंग वर्ष 2021-23 के दौरान 21% CAGR रहने की उम्मीद है। वहीं, लगाई गई पूंजी (ROCE) पर इस दौरान 15% रिटर्न मिलने की उम्मीद है। वर्ष 2020 में जबरदस्त फायदे के बाद वर्ष 2021 में फार्मा स्टॉक्स में मुनाफा वसूली दिखी है। इस वजह से इस साल Nifty Pharma में 6% की गिरावट आई है, जबकि इस दौरान Nifty में 8% की उछाल दर्ज की गई है।

Kotak Securities के हेड ऑफ फंडामेंटल रिसर्च रुष्मिक ओजा (Rusmik Oza) ने Moneycontrol को बताया कि एंटीबायोटिक और API सप्लाई में चीन का प्रभुत्व है, लेकिन भारत सरकार ने इस दिशा में तेजी से कदम बढ़ाया है ताकि भारत इस मौके का फायदा उठा सके। साथ ही भारत अफोर्डेबल क्वालिटी मेडिसिन सप्लाई में पहले से ही डोमिनेंट प्लेयर है। उन्होंने कहा कि यह सेक्टर अट्रैक्टिव बना रहेहा, क्योंकि अमेरिका में स्थिति ठीक होने का फायदा भारतीय फार्मा कंपनियों को होगा। लेकिन साथ ही FDA अपने इंस्पेक्शन भी बढ़ा सकता है।

ब्रोकरेज फर्म नोमुरा (Nomura) ने कहा कि सरकार ने PLI  के दायरे को Pharma सेक्टर के लिए भी बढ़ाया है और 15,000 करोड़ रुपये के इंसेंटिव की घोषणा की है। इससे उन कंपनियों की अच्छा मुनाफा होगा जिनका मैन्युफैक्चरिंग बेस स्ट्रॉन्ग है। CNBC-TV18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नोमुरा ने कहा कि भारत की 15 से 20 फार्मा कंपनियां PLI स्कीम के लिए योग्य हैं, जिनमें अरबिंदों फार्मा, डॉ. रेड्डी लैब्स, लुपिन, सिप्ला, कैडिला और सन फार्मा जासी कंपनियां हैं।

इन स्टक्स पर लगाएं दांव

बाजारा विशेषज्ञों ने कहा कि फार्मा सेक्टर का लॉन्ग टर्म आउटलुक पॉजिटिव है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप किसी भी फार्मा स्टॉक पर पैसा लगा दें। Kotak Securities के हेड ऑफ फंडामेंटल रिसर्च रुष्मिक ओजा ने सिप्ला (Cipla), लुपिन (Lupin) और नारायन हृदयालय पर दांव लगाने का सुझाव दिया है। वहीं, Geojit Financial Services के विनोद नायर ने डॉ. रेड्डी लैब्स, डिविस लैब्स (Divis Labs), टॉरेंट फार्मा (Torrent Pharma) और सुवेन फार्मा (Suven Pharmacueticals) पर दांव लगाने को कहा है। इसके साथ ब्रोकरेज फर्म आनंदराठी ने लॉरस लैब्स (Laurus labs), फाइजर (Pfizer), आरती ड्रग्स (Aarti Drugs) और सुवेन फार्मा के साथ डॉ. रेड्डी लैब्स के स्टॉक्स पर दांव लगाने को कहा है।

टॉप 10 स्टॉक्स जो देंगे 20% से 40% तक रिटर्न

Aurobindo Pharma: एक्सपर्ट्स ने अरविंदों फार्मा के स्टॉक्स का टाग्रेट प्राइस 1200 रुपये दिया है। अभी कंपनी के स्टॉक्स 858 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। यानी कंपनी मिड टर्म में 40% से अधिक रिटर्न दे सकती है।

Indoco Remedies: इस कंपनी के स्टॉक्स का टार्गेट प्राइस 400 रुपये तय किया गया है, जबकि अभी इसके स्टॉक्स 292 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। यानी कंपनी निवेशकों को एक साल के अंदर 37% से अधिक रिटर्न दे सकती है।

Dr. Reddy labs: डॉ रेड्डी लैब्स के स्टॉक्स अभी 4472 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। इसके लिए ब्रोकरेज फर्म्स ने 6012 रुपये का टार्गेट प्राइस दिया है। यानी कंपनी 35% रिटर्न मिड टर्म में देगी।

Aarti Drugs: एक्सपर्ट्स ने आरती ड्रग्स के स्टॉक्स का टाग्रेट प्राइस 848 रुपये दिया है। अभी कंपनी के स्टॉक्स 636 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। यानी कंपनी मिड टर्म में 33% से अधिक रिटर्न दे सकती है।

Pfizer: फाइजर के स्टॉक्स निवेशकों को मिड टर्म में 25% रिटर्न दे सकते हैं। एक्सपर्ट्स ने इसके शेयर का टार्गेट प्राइस 5655 रुपये तय किया है, जबकि अबी इसके स्टॉक्स की कीमत 4542 रुपये है।

Cadila: कैडिला के स्टॉक्स अभी 438 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। इसके लिए ब्रोकरेज फर्म्स ने 545 रुपये का टार्गेट प्राइस दिया है। यानी कंपनी 24% रिटर्न मिड टर्म में देगी।

Sun Pharma: सन फार्मा के स्टॉक्स निवेशकों को मिड टर्म में 24% रिटर्न दे सकते हैं। एक्सपर्ट्स ने इसके शेयर का टार्गेट 760 रुपये तय किया है, जबकि अबी इसके स्टॉक्स की कीमत 611 रुपये है।

Divis Labs: डिविस लैब्स के स्टॉक्स अभी 3436 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। इसके लिए ब्रोकरेज फर्म्स ने 4264 रुपये का टार्गेट प्राइस दिया है। यानी कंपनी 24% रिटर्न मिड टर्म में देगी।

Suven Pharma: इस कपनी के स्टॉक्स का टार्गेट प्राइस ब्रोकरेज फर्म्स ने 594 रुपये दिया है, जबकि इसके स्टॉक्स कल 478.50 रुपये पर बंद हुए थे। यानी कंपनी मिड टर्म में निवेशकों को 24% रिटर्न देगी।

Narayana Hrudayalaya: इस कंपनी के स्टॉक्स मिड टर्म में निवेशकों को 23% से अधिक रिटर्न देंगे। इसके स्टॉक्स का लक्ष्य विशेषज्ञों ने 540 रुपये दिया है। कंपनी के शेयर की कीमत अभी 438 रुपये है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।