Budget 2021: Work From Home करने वाले कर्मचारियों को मिल सकती है इनकम टैक्स में छूट

वर्क फ्रॉम होम करने वाले कर्मचारियों को 1 फरवरी को पेश होने वाले आम बजट में सरकार से इनकम टैक्स के मोर्चे पर कुछ राहत की उम्मीद है
अपडेटेड Jan 28, 2021 पर 14:01  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस महामारी के कारण लगे लॉकडाउन ने दुनिया में लोगों के काम करने का तरीकों को बदल दिया है। इस महामारी के चलते वर्क फ्रॉम होम (Work For Home) का चलन बढ़ा और अब यह न्यू नॉर्मल (new normal) है। महामारी से बचाव के लिए भारत में टेक कंपनियों सहित अधिकतर कंपनियों ने Work For Home को अपनाया और इसे आगे बढ़ने पर विचार कर रही है। वर्क फ्रॉम होम कल्चर से संस्थानों की काफी बचत भी हो रही है। ऐसे में Work For Home करने वाले कर्मचारियों को 1 फरवरी, 2021 को पेश होने वाले बजट में सरकार से इनकम टैक्स के मोर्चे पर कुछ राहत की उम्मीद है। केंद्र सरकार बजट 2021 में घर से काम करने वाले कर्मचारियों को टैक्स में छूट दे सकती है।

दरअसल, वर्क फ्रॉम होम कर रहे कर्मचारियों के खर्च बढ़े हैं। उन्हें हाई स्पीड इंटरनेट, पावर बैकअप, इलेक्ट्रॉनिक एसेसरीज, एयरकंडीशनर जैसी चीजों पर एक्स्ट्रा खर्च करना पड़ रहा है। हालांकि, कुछ बड़ी कंपनियों अपने कर्मचारियों को इन जरूरतों को पूरा करने के लिए अलाउंस दे रही हैं, लकिन अधिकतर कर्मचारियों को ये खर्चे अपनी जेब से ही देने पड़ रहे हैं। ऐसे में इस बार आम बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण घर से काम करने वाले कर्मचारियों को इनकम टैक्स में छूट देने का ऐलान कर सकती हैं।

टैक्स डिडक्शन का लाभ देने पर विचार हो

कंसल्टिंग फर्म पीडब्ल्यूसी इंडिया (PWC India) के सीनियर टैक्स पार्टनर राहुल गर्ग ने  कहा कि सरकार को आगामी बजट में वर्क फ्रॉम होम करने वाले कर्मचारियों को टैक्स डिडक्शन का लाभ देने पर विचार करना चाहिए। उसका मानना है कि इस कदम से कर्मचारियों की इनहैंड सैलरी बढ़ जाएगा, जिससे देश में प्रोडक्ट्स की डिमांड बढ़ेगी और अर्थव्यवस्था को इससे तेजी से ग्रोथ करने में मदद मिलेगी, जैसा कि सरकार चाहती है। राहुल गर्ग ने कहा कि वे वर्क फ्रॉम होम करने के दौरान कर्मचारियों के जो भी खर्च कर रहे हैं, जो ऑफिस में काम करने पर इम्प्लॉयर द्वारा किया जाता, उस खर्च को टैक्सेबल इनकम से घटाया जाना चाहिए। इससे कर्मचारियों का टैक्स बचेगा और उनके हाथ में ज्यादा सेलरी आएगी।

Reimbursement पर भी लगता है टैक्स

राहुल गर्ग ने कहा कि वर्क फ्रॉम होम करने वाले कर्मचारियों को टैक्स डिडक्सन देना पूरी तरह न्यायसंगत है, क्योंकि यदि बिजनेस उस खर्च को उठाते तो उनके खातों में यह खर्च टैकस डिडक्टेबल होती। वहीं, Finology adding के सीईओ प्रांजल कामरा ने कहा कि रिमोट वर्किंग के कारण कर्मचारियों को अधिक खर्च उठाना पड़ रहा है, जो पहले कंपनी उठाती थी। उन्होंने कहा कि कुछ कंपनियां इसके लिए कर्मचारियों को Reimbursement देती हैं, लेकिन यह Reimbursement भी टैक्सेबल है। ऐसे में वर्क फ्रॉम होम करने वाले कर्मचारी सरकार से इनकम टैक्स में छूट देने की उम्मीद कर रहे हैं।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।