Moneycontrol » समाचार » बजट अपेक्षाएं

बजट का बेसब्री से इंतजार, राहत की उम्मीद ज्यादा

अरुण ठुकराल का कहना है कि नोटबंदी के बाद इस बार बजट का बेसब्री से इंतजार हो रहा है।
अपडेटेड Jan 30, 2017 पर 10:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बजट से बाजार की उम्मीदों पर एक्सिस सिक्योरिटीज के एमडी और सीईओ, अरुण ठुकराल का कहना है कि नोटबंदी के बाद इस बार बजट का बेसब्री से इंतजार हो रहा है। लोगों को अब उम्मीद है कि नोटबंदी के बाद सरकार की ओर से बजट में राहत देने की कोशिश हो सकती है। इस बार बजट में इनकम टैक्स और कॉरपोरेट टैक्स में राहत की उम्मीद की जा रही है। साथ ही होम लोन के ब्याज पर टैक्स छूट को लेकर भी एलान संभव है।


अरुण ठुकराल के मुताबिक बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर को लेकर अहम एलान हो सकते हैं। रोजगार के ज्यादा से ज्यादा मौके बन सके, इस तरफ सरकार का जरूर फोकस होना चाहिए। अरुण ठुकराल का मानना है कि रेल, सड़क, इंफ्रा, हाइवे, एयरपोर्ट और बंदरगाहों पर ज्यादा खर्च होता है, तो फिर इससे रोजगार के मौके बनेंगे ही और देश का इंफ्रास्ट्रक्चर भी मजबूत होगा। इसके अलावा सरकार वित्तीय घाटे को किस तरह नियंत्रण में रखने में कामयाब होती है, इस पर भी नजर रहेगी।


अरुण ठुकराल ने कहा कि बजट में सरकार की ओर से सामाजिक योजनाओं पर भी खास फोकस रह सकता है। वहीं सरकार को डिजिटाइजेशन को बढ़ावा देने के लिए ध्यान दिया जाना चाहिए। डिजिटाइजेशन बढ़ने से सरकार के खाते में टैक्स के जरिए ज्यादा पैसा आने की उम्मीद है। बजट में स्टार्टअप्स के लिए भी राहत मुमकिन है।


अरुण ठुकराल का कहना है कि बाजार का मूड अच्छा करने के लिए सरकार को टैक्स के मोर्चे पर थोड़ा ध्यान देने की जरूरत है। बजट में ऐसे किसी टैक्स का एलान ना हो जिससे बाजार पर असर हो, यदि ऐसे किसी टैक्स का एलान होता है तो बाजार पर जरूर असर देखने को मिलेगा। हालांकि बाजार में गिरावट आती है तो वहां निवेश का मौका जरूर हो सकता है।


अरुण ठुकराल का कहना है कि डॉनल्ड ट्रंप के बयानों से बाजार में उतार-चढ़ाव बढ़ने की आशंका है। डॉनल्ड ट्रंप के बयानों से आने वाले दिनों में आईटी और फार्मा सेक्टर की चिंताएं बढ़ सकती है। हालांकि, अगर अमेरिका में ग्रोथ बढ़ती है तो इसका फायदा भारत को भी जरूर होगा।