Vedantu ने 30 लाख डॉलर के ESOP बायबैक प्रोग्राम का किया ऐलान, फाउंडर नहीं लेगें हिस्सा

Vedantu ने 30 लाख डॉलर के ESOP बायबैक प्रोग्राम का किया ऐलान, फाउंडर नहीं लेगें हिस्सा

Vedantu ने 30 लाख डॉलर के एंप्लॉयी स्टॉक ऑप्शन (ESOPs) के लिए बायबैक प्रोग्राम का ऐलान किया है

अपडेटेड Nov 26, 2021 पर 8:35 PM | स्रोत : Moneycontrol.comVeadntu

ऑनलाइन ट्यूशन मुहैया कराने वाले प्लेटफॉर्म वेदांतु (Vedantu) ने 30 लाख डॉलर के एंप्लॉयी स्टॉक ऑप्शन (ESOPs) के लिए बायबैक प्रोग्राम का ऐलान किया है। कंपनी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। वेदांतु के शीर्ष लीडरशिप और सक्रिय कर्मचारी, जिन्होंने अपने स्टॉक के लिए निश्चित समय पूरा कर लिया है, वह इस बायबैक प्रोग्राम में भाग ले सकेंगे। वेदांतु के फाउंडर इस बायबैक में हिस्सा नहीं लेंगे।

वेदांतु के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर और को-फाउंडर वामसी कृष्णा ने बताया, "पिछले कुछ सालों में हमने भारी ग्रोथ देखी है और हम छात्रों के जीवन में जो बदलाव ला रहे हैं, उसे लेकर हमें गर्व है। जैसे-जैसे वेदांतु आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे हम चाह रहे हैं कि हमारी कर्मचारी भी आगे बढ़े क्योंकि कंपनी की ग्रोथ में उनका भी उतना ही योगदान है।"

कृष्णा ने आगे कहा, "हम अपने कर्मचारियों के लिए लॉन्ग-टर्म संपत्ति बनाना चाहते हैं और कंपनी के लिए उनके योगदान और प्रतिबद्धता का सम्मान करना चाहते हैं।"

बायबैक प्रोग्राम से पहले वेदांतु ने इस साल सितंबर में एक फंडिंग राउंड में 10 करोड़ डॉलर जुटाए थे। इस राउंड में सबसे अधिक निवेश सिंगापुर मुख्यालय वाली ABC वर्ल्ड एशिया ने किया था। इसके अलावा Coatue, Tiger Global और GGV Capital ने भी इस राउंड में निवेश किया था। इस राउंड में कंपनी की वैल्यूएशन 1 अरब डॉलर लगी थी।

करीब 11 साल पहले शुरू हुए वेदांतु का फोकस 3 से 18 साल के छात्रों को लाइव ट्यूशन मुहैया कराने पर है। इसके अलावा यह IIT-JEE, नेशनल एलिजबिलिटी कम इंट्रेस टेस्ट (NEET) जैसे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों और CBSE, ICSE और महाराष्ट्र बोर्ड जैसे दूसरे बोर्ड के छात्रों को एग्जमा की तैयारी भी कराती है।

वेदांतु का करीब 55 से 60 पर्सेंट रेवेन्यू लाइव ट्यूशन क्लासेज ही आता है, जबकि बाकी 30 से 35 पर्सेंट रेवेन्यू टेस्ट प्रीपरेशन वाली क्लासेज से आता है। हालिया फंडिंग के बाद कंपनी का लक्ष्य अब अगले 12-15 महीनों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में एंट्री करने पर है। कंपनी अपने विस्तार के लिए मध्य एशिया और साउथ एशिया पर टारगेट करने की योजना पर काम कर रही है।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Nov 26, 2021 8:35 PM