Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

कमोडिटी आउटलुक: कच्चा तेल टूटा, कमाई के लिए क्या हो रणनीति

ईरान के क्रूड पर अमेरिकी पाबंदी के बाद आई क्रूड की तेजी धीरे-धीरे खत्म होने लगी है।
अपडेटेड May 27, 2019 पर 07:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नजर आज कच्चे तेल पर है। दरअसल एक झटके में ही कच्चा तेल पिछले दो महीने का निचला स्तर छू चुका है। ईरान के क्रूड पर अमेरिकी पाबंदी के बाद आई क्रूड की तेजी धीरे-धीरे खत्म होने लगी है। FFGFX इस हफ्ते भाव करीब सात परसेंट फिसल गया है। ट्रेड वॉर की चिंताओं के बीच अब अमेरिका, यूरोप और जापान की इकोनॉमी की चाल सुस्त पड़ने लगी है। अमेरिका में क्रूड का भंडार 22 महीने की ऊंचाई पर चला गया है। अब नजरें ओपेक की बैठक है। हालांकि सऊदी ये भरोसा दे चुका है कि ग्लोबल मार्केट में वह सप्लाई कम नहीं होने देगा। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या महंगे क्रूड से अब मिलेगी मुक्ति। जानेंगे आज।


क्रूड 2 महीने के निचले स्तर पर है। इस हफ्ते ब्रेंट वे 68 डॉलर के नीचे का स्तर को छुआ है। कच्चे तेल का भाव इस हफ्ते 7 फीसदी फिसला है। US में 22 महीने में सबसे ज्यादा क्रूड का भंडार है। इस समय US में 5 साल के औसत से 4 फीसदी ज्यादा क्रूड का भंडार है। ट्रेड वॉर से चीन में मांग घटने का अनुमान है। यूरोप और जापान की इकोनॉमी की सुस्त चाल की वजह से भी क्रूड की मांग घटने का अनुमान है।


इस बीच सऊदी अरब ने भरोसा दिया है कि मार्केट में क्रूड की कमी नहीं होने देंगे। मार्केट को बैलेंस रखना ओपेक का मकसद है। ईरान से सप्लाई गिरने पर सऊदी अरब भरपाई करने को तैयार है।


मोनार्क नेटवर्थ कैपिटल की निवेश सलाह


एमसीएक्स कच्चा तेल (जून वायदा): बेचें - 4080, स्टॉपलॉस - 4110, लक्ष्य - 4030