Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

खेती पर सूखे की मार, एग्री में क्या हो रणनीति

प्रकाशित Mon, 03, 2018 पर 16:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सूखे की मार रबी फसलों की बुआई पर पड़ी है। नवंबर तक रबी की बुआई करीब 8 फीसदी गिर गई है। जिसमें मोटे अनाजों की खेती में सबसे ज्यादा 27 फीसदी की कमी देखी जा रही है। लेकिन गेहूं और दाल की स्थिति चिंताजनक है। दाल की खेती में जहां बारह परसेंट की गिरावट आई है। वहीं गेहूं की बुआई भी 2.5 फीसदी पिछड़ गई है। दालों में सबसे ज्यादा खराब स्थिति चने की खेती है, जो पिछले साल से करीब 15 फीसदी कम है।
 
एग्री कमोडिटी में कैस्टर और कपास खली में तेजी आई है, लेकिन चने का भाव 1.5 फीसदी लुढ़क गया है। मसालों में धनिया और जीरे में भी बढ़त पर कारोबार हो रहा है। लेकिन तिलहन में दबाव है और सोयाबीन के साथ सरसों का भी भाव लुढ़क गया है। जिसमें सरसों 6 महीने के निचले स्तर पर कारोबार कर रहा है।


कच्चे तेल में जोरदार तेजी आई है। घरेलू बाजार में ये 4.5 फीसदी उछल गया है। दरअसल ग्लोबल मार्केट में तेजी आई है और रुपए में कमजोरी से घरेलू कीमतों को दोहरा सपोर्ट मिला है। सोने की चमक भी बढ़ गई है। घरेलू बाजार में 350 रुपये ऊपर कारोबार हो रहा है। वहीं चांदी में 900 रुपये का उछाल आया है। दरअसल डॉलर में गिरावट से ग्लोबल मार्केट में कीमतों को सपोर्ट मिला है। वहीं रुपए में कमजोरी से घरेलू बाजार में दोहरा सपोर्ट है। ग्लोबल मार्केट में आई तेजी से बेस मेटल में भी रौनक आई है और कॉपर समेत सभी मेटल जोरदार बढ़त के साथ कारोबार कर रहे हैं।


Stayvan.com की निवेश सलाह


कच्चा तेल (दिसबंर): खरीदें 3728 रुपये, लक्ष्य 3878 रुपये, स्टॉपलॉस 3632 रुपये


निकेल (दिसबंर): खरीदें 768 रुपये, लक्ष्य 824 रुपये, स्टॉपलॉस 749 रुपये


कुंवरजी कमोडिटीज की निवेश सलाह


कॉटन (दिसबंर): खरीदें 21800 रुपये, लक्ष्य 22200 रुपये, स्टॉपलॉस 21500 रुपये


सरसों (दिसबंर): बेचें 3980 रुपये, लक्ष्य 3880 रुपये, स्टॉपलॉस 4050 रुपये