Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

तेल मार्केटिंग कंपनियों की कमाई घटने की आशंका: इक्रा

प्रकाशित Tue, 04, 2018 पर 11:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

महंगे क्रूड और रुपये की कमजोरी की दोहरी मार तेल मार्केटिंग कंपनियों पर पड़ती दिख रही है। केरोसीन और घरेलू एलपीजी पर अंडर रिकवरी बढ़ रही है। रेटिंग एजेंसी इक्रा का अनुमान है कि कंपनियों को 46 से 48 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है। कमजोर रुपये, महंगे क्रूड से तेल मार्केटिंग कंपनियों कमाई घटने की आशंका है। गौरतलब है कि डॉलर के मुकाबले रुपया 71.31 तक फिसल गया है। इमर्जिंग देशों की करेंसी गिरने के चलते रुपया फिसला है। उधर लगातार 11वें दिन पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़े हैं। आज पेट्रोल 16 पैसे और डीजल 20 पैसे महंगा हुआ है।


इक्रा ने अपनी रिपोर्ट में तेल मार्केटिंग कंपनियों की कमाई घटने की आशंका जताई है। कंपनियों को केरोसीन पर नुकसान 12 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा हो सकता है। वहीं घरेलू एलपीजी पर ये नुकसान 255 रुपये प्रति सिलिंडर तक हो सकता है। वित्त वर्ष 2019 में कंपनियों का कुल नुकसान 460-480 अरब रुपये तक संभव है। इक्रा का मानना है कि क्रूड बास्टेक 75 डॉलर प्रति बैरल और डॉलर का भाव 71 रुपये रह सकता है। सरकार का अंडर रिकवरी का अनुमान 24900 करोड़ रुपये का था। सरकार अपस्ट्रीम कंपनियों पर घाटे का बोझ डाल सकती है। अपस्ट्रीम कंपनियों पर 7000-10000 करोड़ का बोझ संभव है।