Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

जारी होगा मॉनसून पर अनुमान, एग्री में क्या हो रणनीति

इस साल जून से सितंबर के दौरान कितनी बारिश होगी। आज इस बात का अंदाजा लग जाएगा।
अपडेटेड Apr 15, 2019 पर 12:26  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इस साल जून से सितंबर के दौरान कितनी बारिश होगी। आज इस बात का अंदाजा लग जाएगा। दरअसल भारत का मौसम विभाग आज मॉनसून पर अपना पहला अनुमान जारी करेगा। दोपहर 3 बजे मौसम विभाग का अनुमान जारी हो जाएगा। हालांकि इससे पहले मौसम की जानकारी देने वाली कंपनी स्काईमेट इस साल सामान्य से कम बारिश की आशंका जता चुकी है। स्काईमेट ने इस साल अलनीनो की वजह से औसत का 93 फीसदी बारिश होने का अनुमान दिया है। हालांकि मौसम विभाग अलनीनो की आशंका से इनकार करता रहा है। ऐसे में सवाल ये है कि क्या मौसम विभाग का अनुमान बारिश को लेकर अलग हो सकता है।


आपको बता दें जून से सितंबर दौरान ये चार महीने की बारिश भारतीय कृषि के लिए बेहद खास मानी जाती है और मॉनसून के अनुमान से पहले कमोडिटी मार्केट पर नजर डालें तो धनिया का भाव 2 साल की नई ऊंचाई पर चला गया है। वहीं चने में बढ़त पर कारोबार हो रहा है। एमसीएक्स पर कॉटन में पांच महीने के ऊपरी स्तर पर कारोबार हो रहा है। हालाकि कैस्टर में तेज गिरावट आई है।


लेकिन महंगाई को सबसे ज्यादा हवा देने वाली कमोडिटी कच्चा तेल आज दबाव में है। घरेलू बाजार में भाव 1 फीसदी नीचे है। इस साल करीब 40 फीसदी की तेजी आ चुकी है। गौर करने वाली बात ये है कि रूस ने जून के बाद से सप्लाई बढ़ाने का संकेत दिया है और इसी वजह से इसकी कीमतों पर दबाव है। हालांकि क्रूड में गिरावट के बावजूद डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर है। शुरुआत मजबूती के साथ हुई थी, लेकिन टिक नहीं सकी और फिलहाल डॉलर की कीमत 69.30 पैसे के पास है।


सोने की चमक फीकी पड़ गई है और घरेलू बाजार में इसका दाम करीब 100 रुपये गिर गया है। ग्लोबल मार्केट में भी बिकवाली हावी है और चांदी में भी कमजोर कारोबार हो रहा है। वहीं बेस मेटल में सुस्ती है। जिंक 14 महीने की ऊंचाई से फिसल गया है। दूसरे मेटल भी कमजोर हैं।