Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी न्यूज

गोल्ड का प्राइस चार दिनों में तीसरी बार गिरा, रिकॉर्ड हाई से 9,500 रुपये नीचे

अमेरिका में इन्फ्लेशन डेटा आने से पहले इनवेस्टर्स सतर्क हैं। मजबूत डॉलर का भी गोल्ड पर असर पड़ा है
अपडेटेड Sep 14, 2021 पर 17:32  |  स्रोत : Moneycontrol.com

गोल्ड का प्राइस मंगलवार को भी एक कम रेंज में कारोबार कर रहा है। इसका कारण कमजोर वैश्विक संकेत हैं। MCX पर गोल्ड फ्यूचर्स 0.1 प्रतिशत गिरकर 46,860 रुपये प्रति 10 ग्राम पर था। यह चार दिनों में इसके प्राइस में तीसरी गिरावट है। सिल्वर 0.23 प्रतिशत घटकर 63,155 रुपये प्रति किलोग्राम पर था।


डोमेस्टिक मार्केट में गोल्ड के रेट लगभग एक महीने के लो पर हैं। फेडरल रिजर्व के राहत पैकेज में कटौती को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं होने और मजबूत डॉलर का गोल्ड पर असर पड़ रहा है।


शॉर्ट टर्म के लिए RHI Magnesita, सेंचुरी प्लाइबोर्ड्स, RPSG वेंचर्स पर लगा सकते हैं दाव


पिछले वर्ष अगस्त में गोल्ड ने 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम का रिकॉर्ड हाई लेवल बनाया था।


इंटरनेशनल मार्केट में भी गोल्ड में गिरावट रही क्योंकि डॉलर इंडेक्स लगभग दो सप्ताह के हाई के साथ मजबूत है।


अमेरिका में इनफ्लेशन का डेटा आने से पहले इनवेस्टर्स का रुख सतर्क है।


गोल्ड का स्पॉट प्राइस 0.1 प्रतिशत गिरकर 1,791.16 डॉलर प्रति औंस और सिल्वर का 0.3 प्रतिशत की कमी के साथ 23.65 डॉलर प्रति औंस पर था।


अमेरिकी कंज्यूमर प्राइस डेटा अनुमान से अधिक होने पर फेडरल रिजर्व की ओर से बॉन्ड की खरीदारी में कमी की शुरुआत दिसंबर के बजाय नवंबर से हो सकती है।


बुलियन एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर गोल्ड का 1,770 डॉलर प्रति औंस का सपोर्ट नहीं टूटता तो इसमें तेजी आने की संभावना होगी। इससे नीचे जाने पर बिकवाली हो सकती है।


दुनिया के सबसे बड़े गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड SPDR गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग सोमवार को 0.2 प्रतिशत बढ़कर 1,000.21 टन पर पहुंच गई।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।