Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

बढ़ रही है सोने की निवेश मांग, क्या हो रणनीति

प्रकाशित Fri, 28, 2018 पर 17:22  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नया साल सामने है और बाजार की नजर सोन की चाल पर है। साल 2018 के अंत में आकर सोने ने पूरे बाजार को चौंका दिया है। ग्लोबल मार्केट में ये 6 महीने की ऊंचाई पर है। बेशक अभी भी जनवरी के मुकाबले भाव कम है लेकिन घरेलू बाजार में कमजोर रुपये से सोने को भरपूर सपोर्ट किया है। लिहाजा भारत में सोना 2018 में करीब 8 फीसदी बढ़ चुका है और सोने के लिए ये लगातार तीसरा साल रिटर्न वाला साबित हुआ है। लेकिन क्या नए साल में भी चमकेगा सोना, क्या रुपये से मिलेगा सोने को सपोर्ट, ग्लोबल मार्केट में किस तरह के मिल रहे हैं संकेत, साथ ही चांदी कितनी चमकेगी ये हम जानेंगे आज।


सोने ने लगातार तीसरे साल रिटर्न दिया है। 2018 में सोने ने 8 फीसदी का रिटर्न दिया। इस साल सोना 29500 रुपये से बढ़कर 32000 रुपये के पास आ गया। कमजोर रुपये से घरेलू बाजार में सोने का भाव बढ़ा है। 2018 में डॉलर के मुकाबले रुपया 9 फीसदी कमजोर हुआ है। सोने में आगे तेजी के संकेत हैं। ग्लोबल मार्केट में इसका भाव 1350 डॉलर तक जाने का अनुमान है। ग्लोबल इकोनॉमी में सुस्ती बढ़ने की आशंका है। अमेरिका में ब्याज दरें सिर्फ 2 बार बढ़ने की संभावना है। एसपीडीआर गोल्ड की होल्डिंग 4 महीने के ऊपरी स्तर पर है। एसपीडीआर गोल्ड की होल्डिंग 2 महीने में 8 फीसदी बढ़ी है। डॉलर इंडेक्स 2 महीने के निचले स्तर पर है। सेंट्रल बैंकों का गोल्ड होल्डिंग बढ़ाने पर फोकस है।