Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

कॉपर में रिकवरी, कमोडिटी में क्या हो रणनीति

प्रकाशित Fri, 28, 2018 पर 11:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बेस मेटल में आज कॉपर में रिकवरी आई है। लेकिन बाकी मेटल बेहद छोटे दायरे में कारोबार कर रहे हैं। कल लंदन मेटल एक्सचेंज पर निकेल 14 महीने और एल्युमिनियम 20 महीने के निचले स्तर पर लुढ़क गया था। इस बीच कल की गिरावट के बाद आज कच्चे तेल में रिकवरी आई है। इसका दाम 1 से 2 फीसदी तक उछल गया है। अमेरिका में भंडार बढ़ने के बावजूद क्रूड तेज है।


अब बात करते हां सोने की। सीएनबीसी-आवाज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक सरकार अगले महीने गोल्ड पॉलिसी का एलान कर सकती है। इस पर कैबिनेट ड्राफ्ट नोट तैयार हो गया है। इस नोट में गोल्ड पर इंपोर्ट ड्यूटी कम करने, इंडिया गोल्ड एक्सचेंज खोलने, गोल्ड बैंक शुरू करने के लिए विशेष लाइसेंस पॉलिसी बनाने, गोल्ड सेटलमेंट और क्लियरिंग मैकेनिज्म बनाने, गोल्ड सेविंग्स अकाउंट शुरू और गोल्ड बॉन्ड स्कीम में बदलाव करने का प्रस्ताव है।


बता दें कि पिछले बजट में सरकार ने गोल्ड पॉलिसी लाने का एलान किया था। सूत्रों के मुताबिक गोल्ड पॉलिसी के तहत गोल्ड को एक फाइनेंशियल एसेट के तौर पर विकसित किया जाएगा। अगले महीने इस गोल्ड पॉलिसी का एलान संभव है।


एग्री कमोडिटीज की बात करें तो मसालों में भारी उठापटक हो रही है। धनिया में रिकवरी लौटी है। वहीं, जीरे का दाम 7 महीने के निचले स्तर पर आ गया है। इस बीच सोयाबीन भी कमजोर है।