Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी न्यूज

महाराष्ट्र की राजनीति में अगले 48 घंटे हैं बेहद खास

चुनाव नतीज आने के 13 दिन बाद भी सरकार किसकी बनेगी, अभी तक कुछ भी साफ नहीं हो सका है। BJP और शिवसेना में कौन झुकेगा, ये आज और कल में पता चलेगा।
अपडेटेड Nov 07, 2019 पर 12:31  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र का महाभारत अभी चल रहा है। अब महाराष्ट्र के सियासी अखाड़े में आज और कल का दिन बेहद खास रहेगा। राज्य की विधान सभा का कार्यकाल कल 8 नवंबर को खत्म हो रहा है। लिहाजा राजनीतिक दलों के लिए ये समय बेहद खास है।


शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने ज गुरुवार को नव निर्वाचित विधायक दलों की मीटिंग बुलाई है। जिसमें कहा गया है कि कोई भी फैसला लेने से पहले विधायकों से उनकी राय पूछना जरूरी है। इस मीटिंग में उम्मीद है कि इस बात पर चर्चा हो सकती है कि अगर NCP के साथ मिलकर सरकार बनाते हैं तो राजनीतिक स्तर पर उसका क्या असर होगा। साथ ही जनता पर किस तरह का मैसेज जाएगा।


वहीं आज BJP के नेता राज्यपाल से मुलाकात करेंगे। इसमें सबसे बड़ी दिलचस्प बात ये है कि राज्यपाल से मिलने वाले BJP के प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई BJP विधायक दल के नेता देवेंद्र फडणवीस नहीं, बल्कि BJP प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील करने वाले हैं। हालांकि BJP ने अब तक यह साफ नहीं किया है कि सबसे बड़ा दल होने के नाते वो राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश करेगी या नहीं।


कुल मिलाकर शिवसेना अब इस उधेड़बुन में उलझ गई है कि वो सरकार बनाने के लिए BJP का सहारा ले या फिर NCP के साथ जाए। क्योंकि NCP ने शिवसेना को दो टूक दवाब दे दिया है कि शिवसेना को तभी समर्थन मिलेगा जब वो NDA से हमेशा के लिए अलग हो जाए।


उधर BJP भी शिवसेना को CM का पद देने के बिल्कुल भी मूड में नहीं है। BJP शिवसेना को डिप्टी सीएम का पद देने के लिए ऑफर कर चुकी है। ऐसे में अगर शिवसेना केवल डिप्टी सीएम के पद पर राजी होती है, तो उसकी अच्छी खासी किरकिरी हो सकती है।
फिलहाल अब महाराष्ट्र की राजनीतिक के लिए आज और कल बेहद महत्वपूर्ण है। क्योंकि अगर कल तक सरकार नहीं बन सकी तो फिर राष्ट्रपति शासन लगने की संभावना जताई जा रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।