Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

कॉटन में गिरावट बढ़ी, एग्री में क्या हो रणनीति

प्रकाशित Tue, 05, 2019 पर 12:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

उत्तर भारत में कल से मौसम का मिजाज फिर से बिगड़ सकता है। मौसम विभाग ने खास करके जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के लिए लाल रंग की चेतावनी जारी की है। इन दोनों राज्यों के ज्यादातर इलाकों में बारिश और बर्फबारी की आशंका है। वहीं कल और परसों तक उत्तरखंड, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कई इलाकों में बारिश और ओले भी पड़ सकते हैं। आपको बता दें पिछले महीने इल इलाकों में मौसम खराब हुआ था, जिससे ज्यादातर इलाकों में फसलों को फायदा हुआ, लेकिन जिन इलाकों में ओले पड़े वहां आलू, चना और सरसों की फसल को काफी नुकसान भी हुआ था।


कमोडिटी बाजार की बात करें तो कॉटन में गिरावट बढ़ गई है। एनसीडीईएक्स पर कपास वायदा इस सीजन का निचला स्तर छू चुका है, इसमें 1130 रुपये के नीचे कारोबार हो रहा है। वहीं एमसीएक्स पर कॉटन भी दबाव में है हाजिर में भी इसकी कीमतें 40 हजार प्रति कैंडी तक आ गई हैं। खबर है कि एक्सपोर्ट में दिक्कत हो रही है और इसी वजह से कॉटन की कीमतों पर दबाव है।


इस बीच बेस मेटल में निकेल को छोड़कर चौतरफा तेजी आई है। कॉपर और एल्युमिनियम का दाम 2 महीने की ऊंचाई पर चला गया है। जबकि लेड और जिंक में 3.5 महीने के ऊपरी स्तर पर कारोबार हो रहा है। हालांकि इस दौरान निकेल 3.5 महीने के ऊपरी स्तर से फिसल गया है। गौर करने वाली बात ये है कि पिछले महीने निकेल में करीब 15 फीसदी की तेजी दिखी थी।


उधर कच्चे तेल में कल के दबाव के बाद आज फिर से तेजी आई है। कल की गिरावट के बाद सोने और चांदी में भी रिकवरी आई है। लेकिन इनमें बेहद सुस्त कारोबार हो रहा है। इस बीच लगातार दूसरे दिन एसपीडीआर गोल्ड की होल्डिंग में कमी आई है और ये गिरकर 813 टन पर आ गई है। दो दिनों में ही होल्डिंग करीब 10 टन कम हो चुकी है।