Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

Commodity market: डायमंड एक्सपोर्ट के क्या हैं हाल, डायमंड इंडस्ट्री की बजट से क्या हैं उम्मीदें?

वित्त मंत्री से डायमंड इंडस्ट्री की क्या मांगें हैं इसी पर आज बात करेंगे।
अपडेटेड Jan 24, 2020 पर 16:26  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सोने की कीमतों पर आज दबाव देखने को मिल रहा है। WHO ने Coronavirus को ग्लोबल इमरजेंसी घोषित नहीं किया है जिससे कीमतों पर दबाव है। हालांकि, आज फोकस डायमंड इंडस्ट्री पर है। ये सेक्टर पिछले कुछ समय है बुरे दौर से गुजर रहा है, खासकर एक्सपोर्ट में खासी कमी देखने को मिली है। ऐसे में आने वाले बजट से डायमंड इंडस्ट्री को काफी उम्मीदें हैं। वित्त मंत्री से डायमंड इंडस्ट्री की क्या मांगें हैं इसी पर आज बात करेंगे। सीएनबीसी-आवाज़ के साथ जुड़ गए हैं KISNA DIAMOND के Ghanshyam Dholakia, Divine Solitaires के Jignesh Mehta, Kotak Securities के रविंद्र राव।



डायमंड एक्सपोर्ट में गिरावट


दिसंबर में डायमंड एक्सपोर्ट 4.5 फीसदी गिरकर 1.25 अरब डॉलर रहा है। वहीं, अप्रैल-दिसंबर में एक्सपोर्ट 17.9 फीसदी गिरकर 14.7 अरब डॉलर रहा था। 2019 में रफ डायमंड बिक्री 25 फीसदी घटने का अनुमान है।


डायमंड इंडस्ट्री की मांग


डायमंड इंडस्ट्री की डायमंड पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने की मांग है। डायमंड इंडस्ट्री मांग कर रही है कि इंपोर्ट ड्यूटी 7.5 फीसदी से घटाकर 2.5 फीसदी की जाए। वहीं, सोने-चांदी पर ड्यूटी 12.5 फीसदी से घटाकर 4 फीसदी की जाए।


भारत में डायमंड की डिमांड


भारत में डायमंड ज्वेलरी डिमांड में बढ़त देखने को मिल रही है। कुल ज्वेलरी डिमांड में डायमंड की 20 फीसदी हिस्सेदारी है। दुनिया का करीब 90 फीसदी डायमंड भारत में प्रोसेस होता है।


कच्चा तेल


दूसरी कमोडिटीज की बात करें तो कच्चे तेल की कीमतों में आज हल्का सुधार देखने को मिल रहा है। हालांकि, इस हफ्ते ब्रेंट 5 फीसदी की गिरावट के साथ बंद होने की तरफ बढ़ रहा है। Coronavirus फैलने से कच्चे तेल की डिमांड पर असर पड़ने की आशंका जताई जा रही है जिससे इस हफ्ते क्रूड में खासी गिरावट देखने को मिली।


बेस मेटल्स


ज्यादातर बेस मेटल्स में आज छोटे दायरे में कारोबार हो रहा है। हालांकि, इस हफ्ते मेटल्स की कीमतों में खासी गिरावट देखने को मिली है। LME पर कॉपर 4 फीसदी गिरकर 6 हफ्ते के निचले स्तर पर पहुंच गया है। वहीं महीने की शुरुआत से निकेल में 7.5 फीसदी की गिरावट आई है।


एग्री कमोडिटीज


एग्री कमोडिटीज की बात करें तो तेल-तिलहन में आज गिरावट देखने को मिल रही है, खासकर सोयाबीन और CPO पर दबाव देखने को मिल रहा है। विदेशी बाजारों से कमजोर संकेतों से कीमतों पर दबाव देखने को मिल रहा है। 


Kotak Securities के रविंद्र राव की निवेश सलाह


सोना एमसीएक्स (फरवरी वायदा): खरीदें - 39900 रुपये, लक्ष्य - 40200 रुपये, स्टॉपलॉस - 39800 रुपये


कच्चा तेल एमसीएक्स (फरवरी वायदा): खरीदें - 3950 रुपये, लक्ष्य - 4000 रुपये, स्टॉपलॉस - 3920 रुपये


निकेल एमसीएक्स (जनवरी वायदा): बेचें - 1012 रुपये, लक्ष्य - 995 रुपये, स्टॉपलॉस - 1020 रुपये


निकेल एमसीएक्स (जनवरी वायदा): बेचें - 1012 रुपये, लक्ष्य - 995 रुपये, स्टॉपलॉस - 1020 रुपये


डायमंड आईसीईएक्स (फरवरी वायदा): खरीदें - 3562 रुपये, लक्ष्य - 3579 रुपये, स्टॉपलॉस - 3555 रुपये


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।