Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

थोक महंगाई दर में नरमी, मार्च में घटकर 1 फीसदी पर आई

इससे एक महीना पहले फरवरी 2002 में थोक महंगाई दर 2.26 फीसदी थी
अपडेटेड Apr 16, 2020 पर 08:36  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच महंगाई दर में नरमी आई है। होलसेल इनफ्लेशन मार्च 2020 में घटकर 1 फीसदी पर आ गया है। इससे एक महीना पहले फरवरी में यह 2.26 फीसदी थी। बुधवार को सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, मार्च में महंगाई दर 1.26 फीसदी कम हुई है।


खाने-पीने की चीजों के दाम घटने के कारण महंगाई दर में नरमी आई है। बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, फरवरी में खाने-पीने की चीजों की महंगाई 7.79 फीसदी थी जो मार्च में घटकर 4.91 फीसदी पर आ गई।


देश भर में 25 मार्च से ही लॉकडाउन चल रहा है। ऐसे में मुमकिन है कि डाटा कलेक्शन पर भी इसका असर होगा।


सब्जियों की महंगाई में भी बड़ी कमी आई है। फरवरी में सब्जियों की मंहगाई दर 29.97 फीसदी थी जो मार्च में घटकर 11.90 फीसदी पर आ गई है। हालांकि मार्च की महंगाई में प्याज की बढ़ी कीमतों का योगदान जरूर है। प्याज की महंगाई दर 112.31 फीसदी रही है।


मार्च में फ्यूल और पावर बास्केट की ग्रोथ नकारात्मक 1.76 फीसदी रही। वहीं मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की ग्रोथ सिर्फ 0.34 फीसदी रही।


क्या है खुदरा महंगाई दर का हाल?


खुदरा महंगाई दर मार्च 2020 में घटकर 5.91 फीसदी पर आ गई। खाने-पीने की चीजें सस्ती होने की वजह से इनके दाम घटे हैं। लेकिन अगर हम इसे पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले देखें तो यह ज्यादा है। पिछले साल इसी महीने में मंहगाई दर 2.86 फीसदी थी।


एक महीना पहले फरवरी में खुदरा महंगाई दर 6.58 फीसदी थी। जानकारों का मानना है कि कोरोनावायरस की वजह से अप्रैल में भी महंगाई दर में नरमी रहेगी।


नेशनल स्टैटिस्टिकल ऑर्गेनाइजेशन ने सोमवार को इसके आंकड़े जारी किए। इसके मुताबिक खाने-पीने की चीजों की महंगाई घटकर मार्च में 8.76 फीसदी रही जो फरवरी में 10.81 फीसदी थी। मार्च में सब्जियों की महंगाई दर 18.63 फीसदी रही। एक महीना पहले यह 31.61 फीसदी थी।


हालांकि इस दौरान अनाज और दूसरे उत्पादों की महंगाई में थोड़ा इजाफा हुआ है। फरवरी के 5.23 फीसदी के मुकाबले मार्च में यह 5.30 फीसदी रहा। दालों की मंहगाई में मामूली कमी रही। फरवरी में यह 16.61 फीसदी थी जो मार्च में घटकर 5.23 फीसदी पर आ गई।


फ्यूल और इलेक्ट्रिसिटी की बात करें तो मार्च में इसकी मंहगाई दर 6.59 फीसदी रही जो फरवरी 2020 में 6.36 फीसदी थी। रिजर्व बैंक ने इनफ्लेशन में और कमी आने के संकेत दिए हैं। कोरोनावायरस महामारी को देखते हुए RBI ने 27 मार्च को रेपो रेट में 0.75 फीसद की बड़ी कटौती की थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।