Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

पहले महीने में 2 लाख Corona Testing Kit और अगले महीने से 3 से 4 लाख किट का करेंगे उत्पादन: Kilpest India

पीसीआर टेस्ट एक कन्फर्म टेस्ट होता है जिसके बाद कोरोना की जांच की पुष्टि के लिए किसी और टेस्ट की जरूरत नहीं होती है।
अपडेटेड Apr 08, 2020 पर 09:10  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर Kilpest India है। इस कंपनी की सब्सिडियरी 3B Blackbio Biotech ने SARS CoV-2 (Covid-2019) की जांच के लिए Real-Time PCR Detection kit विकसित की है। इस किट को मरीजों के सैंपल की जांच में उपयोग करने के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) से मंजूरी मिली है। इसके बाद ये Covid-19 के टेस्टिंग किट के लिए मंजूरी प्राप्त करने वाली MyLabs के बाद दूसरी कंपनी बन गई है।


बता दें कि KILPEST INDIA की सब्सिडियरी 3B Blackbio Biotech ने पिछली वायरस महामारी H1NI (Swine Flu) की जांच करने के लिए सबसे पहले भारत में बनी टेस्ट किट लॉन्च की थी। KILPEST INDIA भारत की अग्रणी Agri Bio-Tech Company है। ये  Agro Chemicals, R&D और Contract Research में कारोबार करती है। इसकी सब्सिडियरी 3B Blackbio Biotech भारत में IVD (in vitro diagnostic) बनाने वाली पहली लाइसेंसी कंपनी है।


KILPEST INDIA के स्टॉक में पिछले शुक्रवार को 20 प्रतिशत का अपर सर्किट लगा था। आज भी इसमे 20 प्रतिशत का उछाल देखा गया है और इसका मार्केट कैप 76 करोड़ रुपये बढ़ गया है। इसमें प्रोमोटर्स की 37.88 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इस शेयर का 52 हफ्तों का उच्च स्तर 109.90 रुपये रहा है जबकि निचला स्तर 54 रुपये रहा हैं वहीं इस शेयर का वर्तमान भाव 85 रुपये है।


KILPEST INDIA की सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 में आय 0.28 प्रतिशत बढ़कर 23.27 करोड़ रुपये रही जबकि वित्त वर्ष 2018 में कंपनी की आय 23.21 करोड़ रुपये रही थी। KILPEST INDIA का सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 में मुनाफा 53 प्रतिशत बढ़कर 5.24 करोड़ रुपये रहा जबकि वित्त वर्ष 2018 में कंपनी का मुनाफा 3.42 करोड़ रुपये रहा था।


कंपनी के डायरेक्टर Dhirendra Dubey ने कंपनी के बारे में हाल की खबरों पर सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत करते हुए कहा कि आईसीएमआर ने अबकी बार इनकी टेस्ट किट को 24 घंटे में ही मंजूरी प्रदान कर दी है जबकि अमूमन इसमें इस मंजूरी को 8 दिन लग जाते हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के चलते इतनी तेजी से सभी काम कर रहे हैं।


धीरेंद्र दुबे ने इनकी सब्सिडियरी कंपनी 3B BLACKBIO BIOTECH द्वारा ईजाद किये गये टेस्टिंग किट के बारे में कहा कि इनके किट द्वारा किया जानेवाला पीसीआर टेस्ट एक कन्फर्म टेस्ट होता है जिसके बाद कोरोना की जांच की पुष्टि के लिए किसी और टेस्ट की जरूरत नहीं होती है।


कंपनी की उत्पादन क्षमता पर प्रकाश डालते हुए दुबे ने कहा कि इस समय कंपनी की क्षमता पहले महीने में 2 लाख किट उत्पादन करने की है। इसके बाद अगले महीने से कंपनी से 3 से 4 लाख टेस्टिंग किट का उत्पादन करने में सक्षम होगी।


दुबे ने आगे कहा इस समय ये बीमारी पूरे देश में फैली हुई है इसलिए टेस्टिंग किट उपलब्ध कराने का ये ऑफर पूरे देश को दे रहे हैं। इस स्थिति में ये किसी भी एक कंपनी या लैब को अपनी कंपनी का पूरा प्रोडक्शन उपलब्ध नहीं करायेंगे बल्कि उपलब्ध सारे टेस्टिंग किट्स को सभी कंपनियों को उपयुक्त मात्रा में उपलब्ध करायेंगे।


उन्होंने ये भी कहा कि कंपनी की सब्सिडियरी कंपनी 3B BLACKBIO BIOTECH में कंपनी की शत प्रतिशत हिस्सेदारी नहीं बल्कि 87.5 प्रतिशत हिस्सेदारी थी।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।