Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

INFOSYS के लिस्टिंग के दमदार 27 साल, 1993 में महज ₹9500 का निवेश आज ₹7.08 करोड़

INFOSYS की लिस्टिंग के आज दमदार 27 साल पूरे हो गए हैं। पुणे के 7 दोस्तों ने मिलकर ये वर्ल्ड क्लास कंपनी खड़ी की थी.
अपडेटेड Jun 16, 2020 पर 16:12  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

INFOSYS की लिस्टिंग के आज दमदार 27 साल पूरे हो गए हैं। पुणे के 7 दोस्तों ने मिलकर ये वर्ल्ड क्लास कंपनी खड़ी की थी। बता दें कि इंफोसिस का आईपीओ बमुश्किल भरा था। इंफोसिस ने देश में कॉर्पोरेट गवर्नेंस को नया मुकाम दिया है। इसमें 1993 में किया गया महज 9500 रुपये  का निवेश आज 7.08 करोड़ रुपये हो गया है।       
                          
इंफोसिस एक ऐसी कंपनी है जिसने देश में IT revolution को जन्म दिया। 7 दोस्तों ने जो सपना देखा वो वर्ल्ड क्लास कंपनी के रुप में हमारे सामने है। ये एक ऐसी कंपनी है जिसने निवेशकों को मालामाल कर दिया है।


INFOSYS के दमदार इतिहास पर नजर डालें तो इसकी लिस्टिंग 14 जून 1993 को हुई थी। इसकी लिस्टिंग 52 फीसदी प्रीमियम पर हुई थी। ये अपने इश्यू प्राइस 95 रुपये के मुकाबले 52 फीसदी प्रीमियम के साथ  145  रुपए पर लिस्ट हुआ था। INFOSYS का IPO बड़ी दिक्कतों के बाद भरा था। कंपनी की मर्चेंट बैंकर वल्लभ भंशाली की कंपनी थी। कंपनी का ADR मार्च 1999 में आया। कंपनी लिस्टिंग से अब तक 8 बार बोनस दे चुकी है।


INFOSYS का मार्केट कैप 2.95 लाख करोड़ रुपए है। 1993 से कंपनी का  CAGR ग्रोथ  36 फीसदी है। इंफोसिस निवेशकों के लिए असली मल्टीबैगर साबित हुई है। कंपनी ने 27 साल में 8 बार बोनस शेयर दिए हैं। 1993 के 100 शेयर आज 102400 शेयर हो गए हैं। वहीं कंपनी में 1993 में किया गया 9500 रुपये का निवेश आज 7.08 करोड़ रुपये हो गया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।