Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

BSNL-MTNL के 92,700 कर्मचारियों ने VRS का विकल्प चुना, सालाना 8,800 करोड़ रुपये की होगी बचत

MTNL के मैनेजिंग डायरेक्टर सुनील कुमार ने कहा कि PSU, VRS के लक्ष्य से आगे निकल गई है।
अपडेटेड Dec 04, 2019 पर 17:23  |  स्रोत : Moneycontrol.com

BSNL-MTNL के 92,700 कर्मचारियों ने Voluntary Retirement (स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति) का विकल्प चुना है। इससे कंपनी को सालाना 8,800 करोड़ रुपये की बचत होने की उम्मीद जताई जा रही है। दोनों फर्मों के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि VRS योजना निर्धारित लक्ष्य से पार कर गई है। स्कीम चुनने के लिए कल मंगलवार आखिरी दिन था। यानी कल से ये स्कीम बंद हो गई।


कई सर्कल्स से मिले आंकड़ों के मुताबिक, BSNL के 78,300 और MTNL के 14,378 कर्मचारियों ने इस योजना के तहत VRS का विकल्प चुना है। BSNL के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर पीके पुरवार ने कहा कि हम तकरबीन 82,000 हेडकाउंट (कर्मचारी) के घटने की उम्मीद कर रहे थे। उन्होंने आगे कहा कि VRS के अलावा 6,000 अन्य कर्मचारी भी रिटायर हो चुके हैं। इससे कंपनी के वेतन-भत्तों का सालाना खर्च 14,000 करोड़ रुपये से घटकर 7,000 करोड़ रुपये रह जाएगा। 


MTNL के मैनेजिंग डायरेक्टर सुनील कुमार ने कहा कि PSU, VRS के लक्ष्य से आगे निकल गई है। कुमार ने कहा कि कंपनी के कुल 14378 कर्मचारियों ने VRS के लिए आवेदन किया था। हमारा लक्ष्य 13650 कर्मचारियों का था। इससे हमारा सालाना वेतन बिल 2,272 करोड़ रुपये से घटकर 500 करोड़ रुपये रह जाएगा। अब हमारे पास 4430 कर्मचारी बचेंगे जो परिचालन के लिए पर्याप्त हैं।


BSNL-MTNL दोनों कंपनियां घाटे में चल रही हैं। BSNL ने साल 2018-19 में 14,904 करोड़ रुपये और MTNL ने 3,398 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया था। दोनों कंपनियों पर कुल कर्ज 40,000 करोड़ रुपये था, जिनमें से आधी देनदारी अकेले MTNLपर है जो कि दिल्ली और मुंबई में काम करती है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।