Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Covid-19 effect: अडानी ग्रुप ने तीन एयरपोर्ट के टेकओवर के लिए मांगा और वक्त

अडानी ने 6 एयरपोर्ट के लिए आक्रामक ढंग से बोली लगाई थी लेकिन लॉकडाउन ने पूरी योजना पर पानी फेर दिया
अपडेटेड Jun 05, 2020 पर 09:14  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अडानी ग्रुप ने 2019 में 6 सरकारी एयरपोर्ट के लिए आक्रामक ढंग से बोली लगाई थी। लेकिन अब यह ग्रुप एयरपोर्ट के टेकओवर के लिए वक्त मांग रहा है। CNBC-TV 18 की रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रुप सरकार से यह मांग कर रहा है कि अहमदाबाद, लखनऊ और मैंगलोर के तीन एयरपोर्ट के लिए टेकओवर की डेडलाइन बढ़ा दी जाए। 


दिलचस्प है कि एयरपोर्ट अथॉरिटी ने 2019 में 6 एयरपोर्ट के लिए बोलियां मंगवाईं थी जिनमें अडानी ग्रुप सबसे बड़ा बिडर बनकर उभरा था। हालांकि यूनियन कैबिनेट को अभी तीन एयरपोर्ट-जयपुर, त्रिवेंद्रम और गुवाहाटी - की बोली मंजूर करना बाकी है। अडानी ग्रुप ने फरवरी 2020 में तीन एयरपोर्ट्स के ऑपरेशंस, डेवलपमेंट और मेंटेनेंस के एग्रीमेंट पर साइन किया था।


इस एग्रीमेंट के मुताबिक, अडानी ग्रुप को 6 महीने के भीतर इन तीनों एयरपोर्ट-अहमदाबाद, मैंगलोर और लखनऊ-का टेकओवर कर लेना था। सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन के कारण इंटरनेशनल फ्लाइट्स का आना-जाना बंद है और काम प्रभावित है इसलिए अडानी ग्रुप टेकओवर की डेडलाइन बढ़ाना चाहता है। वैसे कई सूत्रों ने यह बताया है कि अडानी ग्रुप अभी भी सभी 6 एयरपोर्ट हासिल करना चाहता है।


लॉकडाउन की वजह से अडानी ग्रुप के सामने कई चुनौतियां हैं। रेटिंग एजेंसी इकरा ने 3 जून को कहा था कि एविएशन इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री पर सितंबर 2020 तक मुश्किलें बरकरार रहेंगी। इस सेक्टर में रिकवरी की उम्मीद फिस्कल ईयर 2021 की दूसरी छमाही में ही मुमकिन है।


एयरपोर्ट अथॉरिटी और दो राउंड में एयरपोर्ट के प्राइवेटाइजेशन के लिए बोलियां मंगाने की योजना बना रहा है। दोनों राउंड में 6-6 एयरपोर्ट्स होंगे। फिलहाल दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, बेंगलुरु और कोच्चि सबसे बड़े प्राइवेट एयरपोर्ट हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।