Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

249 का रिचार्ज कराओ, 4 लाख का इंश्योरेंस पाओ : एयरटेल

प्रकाशित Tue, 14, 2019 पर 09:07  |  स्रोत : Moneycontrol.com

टेलीकॉम सेक्टर में जियो के आने से बाकी कंपनियों के बीच तगड़ा कॉम्पटिशन बढ़ गया है। जियो के बढ़ते ग्राहकों को देखते हुए वोड़ाफोन, एयरटेल जैसी तमाम कंपनियां कुछ न कुछ पैकेज का एलान कर रही हैं। ऐसे में एयरटेल ने अपने ग्राहकों को लुभाने और अधिक ग्राहक बनाने के लिए प्रीपेड कंस्टमर्स को एक खास ऑफर की शुरुआत की है।
 
 दरअसल कंपनी ने प्री पेड कस्टमर्स के लिए 249 रुपये का प्लान रिचार्ज कराने पर उपभोक्ता को 4 लाख का बीमा कवर हो जाएगा। इस बीमा को लेने के लिए न तो किसी भी प्रकार के डॉक्यूमेंट सबमिट करने हैं और न ही मेडिकल टेस्ट कराना है। इस प्लान को जैसे ही एयरटेल के ऐप या किसी रिटेल शॉप से रिचार्ज कराएंगे, तो ग्राहक का ऑटोमेटिक बीमा कवर हो जाएगा। ग्राहक को पहले रिचार्ज के बाद SMS, माय एयरटेल एप या रिटेलर के जरिए रजिस्टर करना होगा। ये प्रक्रिया सिर्फ एक बार करनी है। इसके बाद आप जैसे ही रिचार्ज करेंगे आपका प्लान रिन्यू हो जाएगा। ये टर्म इंश्योरेंस कवर होगा। ये प्लान 28 दिन का है। 28 दिन के बाद जैसे ही आप रिचार्ज कराएंगे तो फिर से इंश्योरेंस हो जाएगा। यानी कि आपके प्लान की वैलिडिटी ही इंश्योरेंस की वैलिडिटी होगी
 
एयरटेल ने इंश्योरेंस को देने के लिए एचडीएफसी से हाथ मिलाया है। ये कवर एचडीएफसी लाइफ कंपनी देगी। ये पॉलिसी 18 से 54 साल के लोगों के लिए है।  आपको इंश्योरेंस पॉलिसी डिजिटल माध्यम से भेज दी जाएगी। अगर किसी को कागज के तौर पर बीमा पॉलिसी चाहिए तो अर्जी देने पर वो भी मिल जाएगी।
 
249 के इस प्लान में हर दिन 2 जीबी डेटा और अनलिमिटेड कॉल की सुविधा भी है। साथ ही ग्राहक हर दिन 100 एसएमएस भी भेज सकेंगे।


भारती एयरटेल के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर आदर्श नायर ने कहा कि इस पहल से इंश्योरेंस में आ रही रुकावटों को खत्म करना है। अपना फोन रिचार्ज कराओ और आपका इंश्योरेंस हो गया।


31 दिसंबर 2018 तक एयरटेल की इंडिया में ग्राहकों की संख्या तकरीबन 284 मिलियन है।


वहीं एचडीएफसी लाइफ के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर सुरेश बदामी ने कहा कि, मुझे भरोसा है कि इस टाई-अप से हर भारतीय को इंश्योरेंस मिलना एक शानदार अवसर है। हम इस पर अभी और अवेरनेस(जागरूकता) पैदा करेंगे।
 
अगर IRDAI के आंकड़ों पर नजर डालें तो IRDAI के मुताबिक भारत में 4 फीसदी से भी कम जनसंख्या के पास बीमा की सुविधा है। वहीं 2022 तक 38 फीसदी लोग स्मार्टफोन का उपयोग करेंगे। एयरटेल और एचडीएफसी लाइफ के करार से इंश्योरेंस को निचले पायदान तक पहुंचाने में मदद मिलेगी।