Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

जल्दी कदम नहीं उठाया तो 2019-20 में फिर आएगी आर्थिक मंदी

अमेरिका की डेमोक्रेटिक प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट एलिजाबेथ वॉरेन ने दी चेतावनी
अपडेटेड Jul 23, 2019 पर 14:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आप लोगों में से कइयों ने 2008 की आर्थिक सुस्ती देखी होगी। उस दौर से गुजरने वाले लोगों को उम्मीद थी कि शायद अब दोबारा ऐसी हालत देखने की नौबत ना आए। लेकिन ऐसा नहीं है। अमेरिका की डेमोक्रेटिक प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट एलिजाबेथ वॉरेन ने एक नए इकोनॉमिक क्रैश की चेतावनी दी है।


मेसाच्यूसेट्स की सीनेटर वॉरेन ने अपने एक ब्लॉग में कहा है कि इस साल हो या फिर अगले साल, आर्थिक सुस्ती के संकेत तेजी से बढ़ रहे हैं। संसद को इस पर काबू पाने की कोशिश करना चाहिए, इससे पहले की काफी देर हो जाए।


वॉरेन ने कहा कि उन्होंने 2008 में भी आर्थिक सुस्ती की भविष्यवाणी की थी। उन्होंने अपने ब्लॉग में उस वक्त के कुछ आर्टिकल के लिंक भी दिए हैं, जिसमें उन्होंने ओवरप्राइस्ड हाउसिंग मॉरगेज का जिक्र किया था।


क्या हैं संकेत?


वॉरेन एक बैंकरप्सी लॉ एक्सपर्ट हैं। उन्होंने कहा कि हाउसहोल्ड कर्ज, कॉरपोरेट कर्ज और मैन्युफैक्चरिंग में सुस्ती से इकोनॉमिक क्राइसिस के संकेत मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे कई हैरतअंगेज संकेत हैं जिससे बुरे दौर की आहट मिल रही है।


हालांकि उनका यह भी मानना है कि अभी भी सुस्ती को रोकने का मौका है। उन्होंने कहा कि अगर घरेलू कर्ज को घटाया जाए और कॉरपोरेट लेंडिंग पर नजर रखी जाए तो यह मुमकिन है।


अपने पोस्ट में वॉरेन ने अमेरिका-चाइना ट्रेड वॉर और अमेरिकी प्रेसिडेंट के नो-डील ब्रेग्जिट को बढ़ावा देने के खिलाफ चेतावनी दी है।