Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Bajaj Pay: डिजिटल पेमेंट सर्विसेज के लिए Bajaj Finance लॉन्च करेगी बजाज पे ऐप, Paytm और Google Pay को मिलेगी टक्कर

पेमेंट सॉल्यूशंस बिजनेस पर फोकस करने के लिए बजाज फाइनेंस ने इस वित्त वर्ष के अंत तक डिजिटल पेमेंट ऐप Bajaj Pay लॉन्च करने की घोषणा की है
अपडेटेड Apr 01, 2021 पर 15:44  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पेमेंट सॉल्यूशंस बिजनेस पर फोकस करने के लिए बजाज फाइनेंस (Bajaj Finance) ने इस वित्त वर्ष के अंत तक यानी मार्च, 2021 से पहले डिजिटल पेमेंट ऐप बजाज पे (Bajaj Pay) लॉन्च करने की घोषणा की है। बजाज फाइनेंस ने स्टॉक एक्सचेंज को बताया कि कंपनी यूजर्स के लिए डिजिटल पेमेंट ऐप Bajaj Pay वित्त वर्ष 2020-21 का तौथी तिमाही में लॉन्च करेगी। यह ऐप यूजर्स को UPI, PPI, ईएमआई कार्ड (EMI card) और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) से पेमेंट की सुविधा उपलब्ध कराएगा। आम यूजर्स के साथ ही कंपनी अपने मर्चेंट्स के लिए भी Bajaj Pay ऐप डेवलप करेगी।

बजाज फाइनेंस ने कहा कि Bajaj Pay ऐप के अलावा कंपनी अपने ग्रुप ऑफ कंपनीज के लिए 5 प्रोपरायटी मार्केटप्लेस (Proprietary marketplaces) बना रही है। इनमें ईएमआई स्टोर (EMI Store), इंश्योरेंस मार्केटप्लेस (Insurance Marketplace). इंवेस्टमेंट मार्केटप्लेस (Investment Marketplace), बीएफ हेल्थ (BF Health) और ब्रोकिंग ऐप (Broking App) शामिल हैं। इसके अलावा कंपनी 25 दूसरे ऐप इकोसिस्टम्स से पार्टनरशिप करने जा रही है, ताकि अपने कस्टमर्स को उनके जरूरत की सभी सर्विसेज और प्रोडक्ट्स उपलब्ध हो सके। कंपनी ने कहा कि इससे ग्राहक कंपनी के कोर बिजनेस के साथ भी जुड़े रहेंगे।

ये 4 ऐप भी डेवलप कर रही कंपनी

बजाज फाइनेंस ने कहा कि कंपनी अगली तिमाही में अपने बिजनेस को ट्रांसफॉर्म करने के लिए 4 प्रोडक्टिविटी ऐप्स डेवलप कर रही है। जिनके नाम सेल्स वन ऐप (Sales One app), मर्चेंट ऐप (Merchant app) कलेक्शंस ऐप (Collections app) और पार्टनर ऐप (Partner app) हैं। कंपनी ने कहा कि इन ऐप्स के कर्मचारियों की कार्य क्षमता तो बढ़ेगी ही, साथ ही मई 2021 तक इनसे चैनल पार्टनर्स और मर्चेंट इकोसिस्टम की कार्यकुशलता भी बढ़ जाएगी।

दिसंबर तिमाही में 30% कम हो गया नेट प्रॉफिट

बजाज फाइनेंस कंपनी के आज दिसंबर तिमाही के नतीजे भी जारी किए। वित्त वर्ष 2020-21 के Q3 में कंपनी का स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट 30% कम होकर 1049 करोड़ रुपये रह गया। वहीं, एक साल पहले की समान अवधि में यह 1488 करोड़ रुपये था। वहीं कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट भी 29% कम होकर 1146 करोड़ रुपये हो गया जो एक साल पहले की दिसंबर तिमाही में 1614 करोड़ रुपये था। वहीं, कंपनी के कुल इनकम में 5% की गिरावट आई और यह 6658 करोड़ रुपये रहा जो 2019-20 की दिसंबर तिमाही में 7024 करोड़ रुपये था।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।