Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

जेट एयर के रिवाइवल प्लान पर बैंक कर्मचारियों का विरोध

प्रकाशित Fri, 22, 2019 पर 13:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जेट एयरवेज के दिवालिया होने में दूसरी एयरलाइंस अपना फायदा देख रहीं हैं। नौकरी पर संकट देख रहे जेट के पायलटों और क्रू को उन्होंने अच्छे ऑफर देने शुरू कर दिए हैं। यही नहीं दूसरी तरफ जेट को दिलाविया होने से बचाने के लिए भले ही सरकारी बैंक तैयार दिख रहे हैं, लेकिन इन बैंकों के कर्मचारी खुश नहीं हैं। बैंक के कर्मचारियों के एसोसिएशन कहना है बैंकों का काम एयरलाईन्स चलाना नहीं है। बैंकों को जेट का मालिक नहीं बनना चाहिए। बैंक को सिर्फ लोन को वापस लाने का काम करना चाहिए। घाटे में चल रही जेट को उबारने का काम बैंकों का नहीं है। जनता के पैसे से प्राईवेट कंपनी के घाटे को कम करना गलत है।


उधर जेट के पायलटों को तोड़ने की कोशिश भी जारी है। जेट के 260 पायलटों ने स्पाइसजेट से नौकरी मांगी है। इंडिगो भी पायलटों को लुभाने की कोशिश कर रहा है। बता दें कि बड़ी एयरलाइनों में पायलटों की भारी कमी है। जेट के पायलटों को 3 महीने से तनख्वाह भी नहीं मिली है। इंडिगो ने तो नौकरी के साथ ही मुआवजे का भी ऑफर दिया है। स्पासइजेट किराए पर बातचीत कर रही है। जेट के ऑपरेशन से हटे विमानों पर भी दूसरी एयरलाइन्स की नजर है।