Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

राजस्थानः शांति भंग करने के आरोप में BJP सांसद किरोड़ी लाल मीणा गिरफ्तार, जानें क्या है पूरा मामला

विधायक रामकेश मीणा के समर्थकों ने दावा किया कि किला मीणा समुदाय के कुलदेवता का है
अपडेटेड Aug 02, 2021 पर 08:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

राजस्थान पुलिस ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा (Kirodi Lal Meena) को शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। दरअसल, मीणा रविवार सुबह पुलिस को चकमा देते हुए आंबागढ़ किले (Ambagarh Fort) में प्रवेश कर कर गए और वहां सफेद रंग का आदिवासी झंडा लगा दिया। बाद में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।


निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा (Ramkesh Meena) की अगुवाई में समुदाय के कुछ युवकों ने इस किले में लगे भगवा ध्वज को ​कथित तौर पर उतार दिया था। इसके बाद से यह किला विवाद में है। जयपुर-आगरा राजमार्ग पर गलता के पास पर्वतीय क्षेत्र में स्थित इस किले के प्रवेश द्वार पर पुलिस बल तैनात है।


पीटीआई के मुताबिक, मीणा अपने समर्थकों के साथ किले के पीछे जंगल से होते हुए रविवार तड़के किले में पहुंचे और वहां शिव मंदिर के पास सफेद झंडा लगा दिया। पुलिस के अनुसार किरोड़ी लाल मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है।


भारत ने संभाली संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की कमान, पाकिस्तान को अभी से सताने लगा डर


पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) ने मीणा की गिरफ्तारी की आलोचना करते हुए एक बयान में कहा कि आंबागढ़ किले के मामले में धर्म के नाम पर राजनीति कर रही कांग्रेस को करारा जवाब देने वाले किरोड़ी लाल मीणा की गिरफ्तारी निंदनीय है। मीणा को तुरंत रिहा किया जाए।


आपको बता दें कि यह किला दो समुदायों के बीच विवाद का केंद्र बनता जा रहा है। इस किले पर लगे भगवा ध्वज को हाल ही में निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा की उपस्थिति में कुछ लोगों ने कथित तौर पर फाड़ दिया था। इस संबंध में ट्रांसपोर्ट नगर थाने में मीणा समुदाय और दक्षिणपंथी संगठनों की ओर से 22 जुलाई को दो FIR दर्ज कराई गईं।


पुलिस को बुधवार को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए किले और वहां बने मंदिर के अंदर प्रवेश को रोकना पड़ा। विधायक रामकेश मीणा के समर्थकों ने दावा किया कि किला मीणा समुदाय के कुलदेवता का है। पहले मंदिर में अल्पसंख्यक समुदाय के एक समूह द्वारा मूर्तियों को तोड़ा गया और बाद में कुछ दक्षिणपंथी संगठनों ने समुदाय की धार्मिक भावना को आहत करने के लिए किले के ऊपर भगवा झंडा लगा दिया।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।