Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

चंदा कोचर के टर्मिनेशन मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने RBI से मांगा जवाब

बैंक ने कहा है कि कोचर के खिलाफ कार्रवाई जस्टिस श्रीकृष्ण कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर की गई है।
अपडेटेड Dec 10, 2019 पर 15:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बॉम्बे हाईकोर्ट ने ICICI बैंक की पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर और CEO चंदा कोचर को ICICI बैंक के खिलाफ गलत तरीके से टर्मिनेशन करने मामले में Reserve Bank of India (RBI) को भी पक्षकार बनाने की मंजूरी दे दी है। कोर्ट ने RBI से 16 दिसंबर तक जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है। इस मामले की अगली सुनवाई 18 दिसंबर को होगी।


बता दें कि कोचर ने 30 नवंबर को अपने टर्मिनेशन के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। कोचर का कहना है कि बैंक ने उन्हें फरवरी 2019 में टर्मिनेशन लेटर थमा दिया, जबकि अक्टूबर 2018 में ही उनके जल्द रिटायरमेंट होने की अर्जी स्वीकार कर ली गई थी। जिस पर कोचर ने बैंक के इस कदम को गैरकानूनी बताया है।


कोचर का कहना है कि 30 जनवरी 2019 को उन्हें ICICI बैंक ने बताया कि रिटायर्ड जस्टिस बी एन श्रीकृष्णा की जांच रिपोर्ट के आधार पर बोर्ड ने फैसला लिया कि उनके बैंक से अलग होने को बर्खास्तगी माना जाएगा। उन्हें अप्रैल 2009 से मार्च 2018 के बीच मिले बोनस की रकम भी लौटानी होगी। बैंक का कहना था कि वीडियोकॉन लोन मामले में इंटर्नल रिपोर्ट में कोचर को दोषी पाया है।


बता दें कि, चंदा कोचर जिस समय ICICI बैंक में थीं, तब उन्होने वीडियोकॉन ग्रुप को 3,250 करोड़ रुपये का लोन दिया था। आरोप है कि कि चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को वीडियोकॉन ग्रुप से फायदा मिला था। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।