Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

गोदरेज ग्रुप के कारोबारी घराने में मतभेद, जानिए क्या है वजह?

जमशेद गोदरेज और आदि गोदरेज के बीच मनमुटाव इतना बढ़ गया है कि मामला सुलझाने के लिए एडवाइजर नियुक्त किए गए हैं
अपडेटेड Jun 26, 2019 पर 15:33  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश के सबसे पुराने कारोबारी घरानों में से एक गोदरेज समूह के परिवार में मनमुटाव बढ़ गया है। हर कारोबारी घराने की तरह गोदरेज परिवार में भी पैसों को लेकर ही तकरार बढ़ी है। परिवार के मुखिया जमशेद गोदरेज और आदि गोदरेज के बीच बात बिगड़ी है मुंबई के एक महंगे प्लॉट को लेकर।


100 साल पुराने इस ग्रुप की भावी रणनीतियों और मुंबई के विक्रोली में 1000 एकड़ के प्लॉट को लेकर मनमुटाव बढ़ा है। इस मामले की जानकारी रखने वाले कुछ लोगों ने बताया कि दोनों के बीच बात इतनी बिगड़ गई है कि सुलह के लिए देश के कुछ बड़े कारोबारी और वकीलों की मदद ली जा रही है।


समूह की अनलिस्टेड कंपनी गोदरेज एंड बॉयसे पर जमशेद गोदरेज का मालिकाना हक है। उन्होंने बैंकर और इंडस्ट्री के दिग्गज निमेष कंपानी और वकील  जिया मोदी को एडवाइजर नियुक्त किया है। वहीं, आदि और नादिर गोदरेज, कोटक महिंद्रा बैंक के उदय कोटक और लीगल वेटरन साइरिल श्रॉफ की मदद ले रहे हैं। 


नाम जाहिर न करने की शर्त पर एक सूत्र ने बताया कि एडवाइजर्स को मतभेद की वजहों को समझकर दोनों पक्षों के बीच सुलह कराना है। इनमें से एक एडवाइजर ने बताया कि इस मामले में वकीलों के शामिल होने से अब यह पारिवारिक मामला नहीं रह गया है।


गोदरेज ग्रुप की स्थापना 1897 मे अर्देशिर गोदरेज ने की थी। कंपनी का दखल रियल एस्टेट से लेकर FMCG तक है। गोदरेज ग्रुप की आमदनी 5 अरब डॉलर तक पहुंच गया है। 


आदि और नादिर गोदरेज के पास ग्रुप की तीन लिस्टेड कंपनियां है। इनमें गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स (GCPL), गोदरेज प्रॉपर्टीज और गोदरेज एग्रोवेट है।


जमशेद गोदरेज की मालिकाना हक वाली गोदरेज एंड बॉयसे के पास गोदरेज प्रॉपर्टीज में 4.64 फीसदी हिस्सेदारी है। वहीं GCPL में इसकी 7.34 फीसदी हिस्सेदारी है। इसके अलावा जमशेद गोदरेज और फैमिली ट्रस्ट की गोदरेज इंडस्ट्रीज में 8.66 फीसदी हिस्सेदारी है।


नई पीढ़ी के साथ ग्रुप के काम करने का तरीका भी बदला है। इस बातचीत में सीधे तौर पर शामिल एक शख्स ने बताया कि जैसे-जैसे परिवार बड़ा होता रहा, उन्होंने लॉन्ग टर्म के लिए नई रणनीति विकसित की।
शेयर बाजार में गोदरेज प्रॉपर्टीज की लिस्टिंग 2010 में हुई थी। कंपनी का दावा है कि 2016 में इसने 5000 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी बेची है। कंपनी के चेयरमैन आदि गोदरेज हैं और उनका बेटा पिरोज्शा गोदरेज एग्जिक्यूटिव चेयरमैन हैं।


2011 में हुए एक पारिवारिक समझौते के तहत विक्रोली की 1000 एकड़ जमीन पर गोदरेज एंड बॉयसे का मालिकाना हक रहेगा। लेकिन गोदरेज प्रॉपर्टीज इसे डेवलप करेगा और बदले में उसे कुल रेवेन्यू का 10 फीसदी दिया जाएगा। डिजाइन और कंस्ट्रक्शन की लगात का बोझ गोदरेज एंड बॉयसे उठाएगी।


गोदरेज एंड बॉयसे के पास कुल 3000 एकड़ जमीन है। लेकिन इसका दो तिहाई हिस्सा मैंग्रुव्स से ढंका हुआ है। इन्हें हटाकर प्रॉपर्टी को डेवलप करना मुश्किल है।