Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

Lockdown हटने पर Corona फ्रेंडली स्टोर बनाते हुए बढ़ायेंगे कारोबारः V-Mart Retail

कंपनी 187 शहरों में ऑपरेट करती है जिसमें से 77 शहर में एक भी कोविड-19 का केस नहीं मिला है, ऐसी जगह स्टोर जल्दी खुलेंगे।
अपडेटेड Apr 21, 2020 पर 16:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर V-Mart Retail है। लॉकडाउन के कारण कंपनी के 3 छोड़कर बाकी सभी स्टोर बंद हैं और ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म सीमित तौर पर चालू हैं। कंपनी रेडीमेड गारमेंट्स की रिटेलिंग के कारोबार में है। इसके अलावा रिटेल स्टोर भी चलाती है। कंपनी की फैशन यानी कपड़ों से करीब 93 प्रतिशत आमदनी होती है जबकि किराणा से 7 प्रतिशत आमदनी होती है।


V-MART RETAIL में प्रोमोटर्स की 51.99 प्रतिशत हिस्सेदारी है। FIIs की 26 प्रतिशत हिस्सेदारी जबकि Mutual Funds की करीब 10 प्रतिशत हिस्सेदारी है। कंपनी के शेयर का वर्तमान भाव 1741 रुपये है। इसका 52 हफ्तों का उच्च स्तर 2840 रुपये जबकि निचला स्तर 1294 रुपये है। कंपनी का मार्केट कैप 3100 करोड़ रुपये है। कंपनी का स्टॉक अपने साल के उच्च स्तर से 40 प्रतिशत नीचे कारोबार कर रहा है।


कंपनी के CMD ललित अगरवाल ने सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत करते हुए कहा कि इंटरनल सेफ्टी, कस्टमर सेफ्टी के चलते बहुत कम पैमाने पर कारोबार कर रहे हैं। फैशन सेक्शन में कोई बिक्री नहीं हो रही है और राशन में भी थोड़ी बहुत बिक्री ही हो रही है। लोगों को राशन उपलब्ध करवा रहे हैं लेकिन बहुत छोटे स्तर पर बिक्री हो रही है। लोग बाहर से ऑनलाइन खरीदारी कर सकते हैं, स्टोर से पिक अप कर सकते हैं। फिलहाल कंपनी के 1.5 लाख ग्राहोकों के पास ऐप है जिसका उपयोग लॉकडाउन के बाद भी बड़े पैमाने पर देखने को मिल सकता है।


कारोबार पर उन्होंने कहा कि इस बार होली से सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाये जाने के कारण धंदे पर असर शुरू हो गया था। उसके बाद भी कारोबार अच्छा नहीं रहा। कंपनी की आमदनी 50 प्रतिशत तक प्रभावित हुई है।


अगरवाल ने आगे कहा कि कंपनी 187 शहरों में ऑपरेट करती है जिसमें से 77 शहर में एक भी कोविड-19 का केस नहीं मिला है, ऐसी जगह स्टोर जल्दी खुलेंगे और 150 के करीब शहरों में कोविड का असर बहुत कम रहा है इसलिए वहां भी स्टोर जल्दी खलुने की संभावना है। कंपनी सरकार की अनुमति मिलते हुए कोरोना के बारे में सरकार के सारे दिशानिर्देशों के अपनाते हुए कोरोना फ्रेंडली स्टोर बनाएगी और कारोबार को शुरू करेगी।


ललित ने कहा कि छोटे शहरों के लोगों की इम्युनिटी बहुत मजबूत होती है। छोटे शहरों की इकोनॉमी भी छोटी रहती है इसलिए वहां के निवासी कमाई के लिए जल्दी बाहर निकलेंगे और वहां जल्दी से स्थिति नॉर्मल हो जायेंगी।


टार्गेट इन्वेस्टिंग के समीर कालरा का कहना है लॉकडाउन के कारण कारोबार में गिरावट आई है इसलिए इसमें 1200 रुपये के लक्ष्य के लिए बिकवाली करनी चाहिए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।