Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

CG पावर में घोटाला, आखिरी क्या है पूरा मामला?

पूरी रात चली इस बैठक में CG पावर के बोर्ड मेंबर ने कुछ कर्मचारियों की तरफ से किए अनऑथराइज्ड लेनदेन से जुड़े मामलों पर चर्चा हुई
अपडेटेड Aug 21, 2019 पर 08:02  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पावर इक्विपमेंट कंपनी CG पावर में एक बड़े घोटाले का खुलासा हुआ है। फाइनेंशियल स्टेटमेंट्स में गड़बड़ी और गबन का यह मामला बेहद गंभीर है। इस पर CG पावर की ऑडिट कमिटी ने इन गड़बड़ियों को उजागर किया है।


कंपनी में 19 अगस्त सोमवार की रात लंबी बैठक चली। यह बैठक मंगलवार सुबह 4 बजे खत्म हुई। पूरी रात चली इस बैठक में CG पावर के बोर्ड मेंबर ने कुछ कर्मचारियों की तरफ से किए अनऑथराइज्ड लेनदेन से जुड़े मामलों पर चर्चा हुई।


बोर्ड ने माना है कि 31 मार्च 2018 को खत्म तिमाही में कंपनी और ग्रुप की कुल लायबिलिटी क्रमश: 1053.54 करोड़ रुपए और 1608.17 करोड़ रुपए कम है। कुल मिलाकर 31 मार्च 2018 तक कंपनी और ग्रुप की रिलेटेड और अनरिलेटेड पार्टियों को लोन क्रमश: 1990.36 करोड़ रुपए और 2806.63 करोड़ रुपए कम करके बताया हो सकता है। कंपनी ने माना कि मुमकिन है कि इसकी वजह से पहले के नतीजे गलत हों। लिहाजा कंपनी नए सिरे से नतीजे जारी करेगी। 


ऑडिट कमिटी ने शुरुआती जांच में पाया कि कंपनी में अनऑथराइज्ड और संदेहास्पद लेनदेन हुआ है। कंपनी के मैनेजमेंट में हाल ही में बदलाव हुआ था। मैनेजिंग डायरेक्टर केएन नीलकंठ को तब तक रोजमर्रा के काम से हटा दिया गया था जब तक जांच चल रही है।


इसके साथ ही कंपनी के एक इंडिपेंडेंट डायरेक्टर  और ऑपरेशन कमिटी के एक सदस्य सुधीर माथुर को कंपनी के रोजमर्रा के काम की जिम्मेदारी दी गई थी। माथुर को 10 मई 2019 को होलटाइम एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर का पद दे दिया गया।


8 मार्च 2019 को रिटायर CFO वी आर वेंकटेश को तब तक कंपनी के साथ बने रहने को कहा गया है जब तक 31 मार्च 2019 के फाइनल नतीजे जारी नहीं कर दिए जाते।


कंपनी पर मालिकाना हक रखने वाले बिजनेस टायकून गौतम थापर ने कहा, रिलेटेड और अनरिलेटेड पार्टीज से जुड़ी लायबिलिटीज और कर्ज का आंकड़ा दोबारा निकाला जाएगा। कुछ एसेट्स को जानबूझकर कोलैट्रल में दिया गया है और कुछ लोन के मामले में गबन हुए हैं। 


स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में कंपनी ने बताया है कि यह कंपनी के किसी अधिकारी ने किया है। यह अधिकारी पहले के, अभी के या कुछ नॉन एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर्स हो सकते हैं। हालांकि उन्होंने खुलकर नाम नहीं बताया।


कंपनी में Yes Bank की 12.79 फीसदी हिस्सेदारी है। CG पावर में गबन के खुलासे के बाद Yes Bank के शेयर मंगलवार को 7% गिरकर बंद हुए। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।