Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

हीरो साइकल के लिए भी विलेन बना चीन, कंपनी ने 900 करोड़ की डील रद्द करके दिया चीन को झटका

हीरो साइकल ने चीनी कंपनी के साथ की गई 900 करोड़ रुपये की डील को रद्द कर दिया है।
अपडेटेड Jul 06, 2020 पर 09:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत से सीमा विवाद और चीन की विस्तारवादी नीति चीन पर ही भारी पड़ती दिख रही है। सीमा पर भारतीयों सैनिकों के साथ झड़प के बाद भारत ने चीन के खिलाफ आर्थिक नाकेबंदी शुरू कर दी है। सरकार ने 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया और कई सरकारी मंत्रालयों ने चीन के साथ कारोबार पर रोक लगा दी है।


अब देश की प्रसिद्ध कंपनी हीरो साइकल ने चीन के साथ किये गये करोड़ों रुपये के डील पर रोक लगा दी है। हीरो साइकल ने पहले भारत सरकार को 100 करोड़ की मदद दी थी और अब चीन के साथ किये गये 900 करोड़ की डील को रद्द करके चीन को बड़ा झटका दिया है।


कोरोना संकट में तकरीबन सभी कंपनियां नुकसान का सामना कर रही हैं परंतु इस अवधि में हीरो साइकल की रफ्तार में कमी नहीं आई है। वहीं हीरो साइकल ने भारत-चीन विवाद के बाद चीन का बहिष्कार करते हुए बड़ा फैसला लिया है। महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक हीरो साइकल ने चीनी कंपनी के साथ की गई 900 करोड़ रुपये की डील को रद्द कर दिया है।


दूसरी तरफ हीरो कंपनी साइकल के कलपुर्जे बनाने वाली छोटी कंपनियों की मदद के लिए आगे आई है। इसके साथ ही इन कंपनियों को हीरो कंपनियों में शामिल होने का ऑफर भी दिया जा रहा है। इस तरह हीरो कंपनी ने स्वदेशी कंपनियों को प्रोत्साहित करना शुरू कर दिया है। जिसको देखते हुए ये हीरो कंपनी द्वारा लिया गया बड़ा फैसला माना जा रहा है।


हीरो साइकल ने मौके की नजाकत को देखते हुए चीन के साथ सभी प्रकार का कारोबार बंद कर दिया है। इसके बाद कंपनी जर्मनी में अपना प्लांट सुरू करने की तैयारी में है ऐसा कहा जा रहा है। जर्मनी मे लगाये जाने वाले इस प्लांट से पूरे यूरोप में हीरो साइकल की आपूर्ति की जायेगी।


पिछले कई दिनों से हीरो साइकल की मांग में काफी इजाफा हुआ है। इसके अनुसार हीरो साइकल अपनी उत्पादन क्षमता में वृद्धि की है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लागू किये लॉकडाउन के कारण अनेक छोटी कंपनियों को बड़ा नुकसान हुआ है। अब इन छोटी कंपनियों के साथ मिलकर काम करने से इनके नुकसान की भरपाई हीरो साइकल की तरफ होने की उम्मीद है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।