Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

कंपनी पास अच्छे ऑर्डर हैं और लॉकडाउन के बाद तेजी से बढ़ेगा कारोबारः J. Kumar Infraprojects

सरकार की तरफ डिजिटल माध्यम से कंपनी को पैसे भी रिलीज किये गये हैं। इसके बाद कंपनी द्वारा भी अपनी तरफ से जरूरी भुगतान किये गये हैं।
अपडेटेड Apr 22, 2020 पर 16:54  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर J. Kumar Infraprojects है। कंपनी ईपीएस आधार पर स्पेशलाइज्ड निर्माण कार्य करने का कारोबार करती है। मेट्रो, फ्लाइओवर्स, पुल और अन्य सिविल कार्य करने में विशेषज्ञता है। कंपनी के पास निर्माण उपकरणों और मशीनों का बड़ा फ्लीट है। महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, राजस्थान और उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्यों में अच्छी मौजूदगी है।


कंपनी की ऑर्डर बुक में मेट्रो की 55 प्रतिशत, फ्लाइओवर एंव पुल की 38 प्रतिशत और सिविल व अन्य कार्यों की 7 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वित्त वर्ष 2020 में कंपनी की रेवन्यू गाइडेंस 3200 करोड़ वित्त वर्ष 2021 के लिए 3600 करोड़ रुपये रही।


कंपनी में प्रोमोटर्स की होल्डिंग सितंबर 2019 में 44.13 प्रतिशत, दिसंबर 2019 में 44.66 प्रतिशत और मार्च 2020 में 45.32 प्रतिशत रही है।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 26 प्रतिशत बढ़कर 55.7 करोड़ रुपये रहा जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 44.2 करोड़ रुपये रहा था।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 16 प्रतिशत बढ़कर 793 करोड़ रुपये रही जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 686 करोड़ रुपये रही थी।


J KUMAR INFRAPROJECTS का मार्केट कैप 630 करोड़ रुपये है। इसमें प्रोमोटर्स की 45.32 प्रतिशत हिस्सेदारी है। कंपनी के शेयर का 52 हफ्तों का उच्च स्तर 181 रुपये रहा जबकि निचला स्तर 65 रुपये रहा है। इसके शेयर का वर्तमान भाव 83 रुपये है।


J. Kumar Infraprojects के MD नलिन गुप्ता ने सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत करते हुए कहा कि कंपनी सरकार के कोरोना संबंधी दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते निर्माण कार्य कर रही है। कंपनी का मैनेजमेंट लेबर्स को कैम्प के बाहर नहीं जाने देते और उनको कैंप के अंदर ही सारी सुविधाएं प्रदान करते हैं।


पब्लिक को परेशानी न हो इसलिए रात के समय पुलिस और प्रशासन के तालमेल के साथ काम कर रहे हैं। अति आवश्यक काम करने के साथ ही सारी सावधानियां बरत रहे हैं।


कारोबार पर बात करते हुए नलिन ने कहा कि कोरोना के चलते कंपनी का कारोबार तो प्रभावित हुआ है लेकिन सरकार से अति आवश्यक काम करने की अनुमति मिली है जो हम कर रहे हैं और सरकार की तरफ डिजिटल माध्यम से कंपनी को पैसे भी रिलीज किये गये हैं। इसके बाद कंपनी द्वारा भी अपनी तरफ से जरूरी भुगतान किये गये हैं।


उन्होंने आगे कहा कि कंपनी की ऑर्डर बुक अच्छी है इसलिए कंपनी को लॉकडाउन के बाद काम की दिक्कत नहीं होगी और लिक्विडिटी की समस्या भी नहीं है। कंपनी लगभग कर्ज मुक्त है इसलिए स्थितियां सामान्य होने पर कंपनी अच्छी तरक्की करेगी।


सेठी फिनमार्ट के विकास सेठी का कहना है कि इस स्टॉक को 125 रुपये के लक्ष्य के लिए होल्ड करना चाहिए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।