Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

रामदेव की पतंजलि की बिक्री में जबरदस्त गिरावट, जानिए क्या है वजह?

प्रकाशित Wed, 12, 2019 पर 15:48  |  स्रोत : Moneycontrol.com

तीन साल पहले योग गुरु रामदेव का कारोबार चमक रहा था। 2014 में नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद से स्वदेशी प्रोडक्ट के सहारे कंपनी की बिक्री दिन दोगुनी रात चौगुनी बढ़ रही थी। पतंजलि के अफोर्डेबल प्रोडक्ट्स को ग्राहक हाथोहाथ ले रहे थे। विदेशी कंपनियों के लिए पतंजलि के नारियल तेल और आयुर्वेदिक प्रोडक्ट चिंता का विषय बन गए थे.


पतंजलि की लगातार बढ़ती कामयाबी से उत्साहित होकर रामदेव ने 2017 में कहा था कि पतंजलि के बढ़ते टर्नओवर से मल्टीनेशनल कंपनियों को कपालभाति करना होगा। तब उन्होंने यह ऐलान किया था कि मार्च 2018 तक कंपनी की सेल्स बढ़कर 20,000 करोड़ रुपए पहुंच जाएगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ।


कंपनी के फाइनेंशियल रिपोर्ट के मुताबिक, पतंजलि की सेल्स 10 फीसदी गिरकर 8100 करोड़ रुपए रह गई है। कंपनी के सूत्रों और एनालिस्ट्स के मुताबिक, पिछले फिस्कल ईयर में यह और घट गया. पतंजलि से मिले आंकड़ों के आधार पर रेटिंग एजेंसी केयर ने अप्रैल में कहा था कि प्रोविजनल डाटा की मानें तो 31 दिसंबर 2018 तक कंपनी की सेल्स घटकर सिर्फ 4700 करोड़ रुपए रह गई है।


मिंट के मुताबिक, हाल ही में कंपनी के कर्मचारियों, सप्लायर्स, डिस्ट्रीब्यूटर्स, स्टोर मैनेजर्स और कंज्यूमर के इंटरव्यू से पता चलता है कि कंपनी को गलत फैसलों का खामियाजा उठाना पड़ा। खासतौर पर क्वालिटी पर सवाल खड़े होने से कंपनी की सेल्स में बड़ी गिरावट आई है। इसके साथ ही पतंजलि को नोटबंदी और GST से भी नुकसान उठाना पड़ा है।