Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

IL&FS को FY 2019 में 22,527 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा

कंपनी ने एक बयान में कहा है कि साल 2017-18 में उसकी देनदारी 18,276 करोड़ रुपये से बढ़कर 2018-19 में 21,083 करोड़ रुपये हो गई
अपडेटेड Dec 05, 2019 पर 15:58  |  स्रोत : Moneycontrol.com

नकदी संकट से घिरी Infrastructure Leasing & Financial Services (IL&FS) को फिस्कल ईयर 2018-19 में 22,527 करोड़ रुपये का नेट लॉस (शुद्ध घाटा) हुआ है। इसके पहले साल यानी फिस्कल ईयर 2017-18 में कंपनी ने 333 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया था।


कंपनी ने जारी अपने बयान में कहा है कि उसका रेवेन्यू साल 2017-18 में 1,734 करोड़ रुपये से घटकर 824 करोड़ रुपये रह गई है। बता दें कि सरकार ने पिछले साल अक्टूबर महीने में बोर्ड को बर्खास्त कर दिया था। इसके बाद कंपनी का यह पहला रिजल्ट है।
कंपनी का कहना है कि मार्च 2019 के आखिरी तक उसकी कुल एसेट्स 4,148 करोड़ रुपये थी, जो कि एक साल पहले 23,868 करोड़ रुपये की थी। कंपनी ने एक बयान में कहा है कि साल 2017-18 में उसकी देनदारी 18,276 करोड़ रुपये से बढ़कर 2018-19 में 21,083 करोड़ रुपये हो गई। 


अक्टूबर 2018 में सरकार ने लोन में डूबी कंपनी का नियंत्रण सत्यम कम्प्यूटर की तर्ज पर अपने हाथ में ले लिया था। सरकार ने कंपनी के पुराने डायरेक्टर्स बोर्ड को हटाकर बैंकर उदय कोटक की अगुवाई में नया बर्ड बनाया था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।