Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

DHFL के ऑडिटर्स ने अगस्त में ही की थी फ्रॉड की शिकायत, लेकिन कंपनी ने बैंकों से छुपाई थी जानकारी

कंपनी के ऑडिटर्स ने अगस्त के शुरुआत में ही कॉरपोरेट मिनिस्ट्री में फ्रॉड को लेकर शिकायत दर्ज कराया था
अपडेटेड Nov 07, 2019 पर 16:12  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Dewan Housing and Finance Corp. Ltd के ऑडिटर्स ने अगस्त के शुरुआत में ही कॉरपोरेट मिनिस्ट्री में फ्रॉड को लेकर शिकायत दर्ज कराया था। लेकिन यह जानकारी कंपनी के मैनेजमेंट ने बैंकों और कंपनी के शेयरहोल्डर्स को नहीं दी थी।


livemint ने मामले की सीधी जानकारी रखने वाले सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है। मामले के जानकारों ने बताया है कि स्टैचरी ऑडिटर्स Deloitte Haskins and Sells और Chaturvedi and Shah ने Companies Act, 2013 की धारा 143(12) के तहत मिनिस्ट्री को जानकारी दी थी। इस धारा के मुताबिक, ऑडिटर्स को फ्रॉड की आशंका होने पर मिनिस्ट्री को जानकारी देना अनिवार्य है।


ऑडिटर्स की ओर से शिकायत मिलने के बाद मिनिस्ट्री ने Serious Fraud Investigation Office (SFIO) को इस केस की जांच करने का आदेश दे दिया है।


सूत्रों ने बताया कि यूं तो ऑडिटर्स इस धारा के तहत कंपनी को यह बताने के लिए बाध्य नहीं होते कि उन्हें कंपनी में फ्रॉड की आशंका है लेकिन ऑडिटर्स ने DHFL को इसकी जानकारी दे दी। चूंकि DHFL ने बैंकों को इसकी जानकारी नहीं दी, ऐसे में बैंक कर्ज में डूबी इस कंपनी से अपना कर्ज रिवाइव करने के लिए रिजॉल्यूशन प्लान पर काम करते रहे। हालांकि, SFIO की जांच शुरू होने के बाद अब यह प्लान अटक गया है।


बता दें कि कंपनी पर 83,873 करोड़ का बकाया है, जिसमें उसने अकेले 38,342 करोड़ का कर्ज बैंकों से लिया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।