Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

एयरएशिया स्कैम: ED ने CEO सहित एयरलाइन के सभी बड़े अधिकारियों को समन भेजा

ED और CBI पिछले एक साल से एयरलाइन की जांच कर रही है, कंपनी पर मनीलॉन्ड्रिंग का आरोप है
अपडेटेड Jan 16, 2020 पर 17:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

AirAsia। एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ED) ने एयर एशिया (AirAsia) के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) टोनी फर्नांडीस (Tony Fernandes) को 20 जनवरी को तलब (Summon) किया है। फर्नांडीस को एयरलाइन के खिलाफ चल रही जांच के मामले में पूछताछ के लिए बुलाया गया है। ED ने प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत यह समन सिर्फ फर्नांडीस को नहीं बल्कि एयरलाइन के सभी बड़े अधिकारियों को भेजा है। इसमें कंपनी के पूर्व अधिकारी और मौजूदा अधिकारी शामिल हैं।


ED और CBI पिछले एक साल से एयरलाइन की जांच कर रही है। सालभर पहले जब एयरलाइन ने भारत में बिजनेस करने के लिए लाइसेंस लिया था तब से वित्तीय अनियमितता और आपराधिक गतिविधियों को लेकर एयरएशिया की जांच चल रही है।


मई 2018 में ED ने एयरएशिया के खिलाफ मनीलॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था। ED का आरोप था कि एयरएशिया के अधिकारी सरकारी पॉलिसी को गलत तरीके से तोड़मरोड़ कर अपने इंडियन वेंचर -एयरएशिया इंडिया- के लिए इंटरनेशनल लाइसेंस लेने की कोशिश कर रहे हैं।


जून 2018 में ED ने एयरएशिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच का दायरा बढ़ाया। इससे पहले ED ने एयरलाइन को FDI की मंजूरी देने वाले पेपर कॉमर्स मिनिस्ट्री से हासिल किए।


जांच में उन आरोपों को बल मिला कि एयरलाइन फंड का इस्तेमाल अवैध तरीके से एसेट्स बनाने में कर रही है। इसके बाद CBI ने फर्नांडीस के खिलाफ केस रजिस्टर किया।


CBI ने एयर एशिया इंडिया के दफ्तर की जांच करने के बाद फर्नांडीस के खिलाफ शिकायत दर्ज की। फर्नांडीस पर आरोप है कि कथित तौर पर वह ओवरसीज फ्लाइट परमिट के लिए लॉबिंग कर रहे हैं। साथ ही उन नियमों का उलंलघन कर रहे हैं जिसके तहत किसी इंडियन एयरलाइन पर विदेशी एयरलाइन कंपनी का मालिकाना हक नहीं हो सकता। 


CBI के FIR के मुताबिक, एयरएशिया ने नियमों का उल्लंघन 2013 से 2016 तक किया। जून 2016 में सरकार ने इंडियन एयरलाइन पर विदेशी एयरलाइन कंपनी के मालिकाना हक से जुड़े नियमों में राहत दे दी। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।