Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

जेट एयरवेज को बचाने के लिए नरेश गोयल, हिंदुजा और एडिग्रो ने मिलाया हाथ

प्रकाशित Wed, 22, 2019 पर 10:57  |  स्रोत : Moneycontrol.com

जेट एयरवेज के रिवाइवल की कोशिशें तेज हो गई हैं। खबर आई थी कि हिंदुजा ग्रुप जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीदना चाहती है। लेकिन अब खबर है कि जेट को हवा मे उड़ाने के लिए कई कंपनियां मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं। इसमें एतिहाद, जेट के संस्थापक नरेश गोयल और एडिग्रो तीनों कंपनियां मिलकर जेट को दोबारा शुरू करने की कोशिश कर सकते हैं। इसके लिए एक कंसोर्शियम (ग्रुप) बनाया गया है जो जेट एयरवेज की मुश्किलें दूर करने का काम करेगा।


मनी कंट्रोल को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, हिंदुजा ग्रुप के साथ एतिहाद एयरवेज ने जेट एयरवेज के संचालन के लिए एडिग्रो एविएशन और जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल से हाथ मिलाया है। जेट एयरवेज का संचालन 17 अप्रैल से ठप है। जबकि लंदन की कंपनी एडिग्रो एविएशन एतिहाद और जेट एयरवेज के कर्जदातों से बातचीत कर रही है। हिंदुजा ग्रुप ने जेट में इनवेस्टमेंट करने की सहमति दे दी है।


एक अधिकारी के मुताबिक गोयल ने कंसोर्शियम को हर तरह से सहयोग देने की बात कही है, ताकि जेट एयरवेज को दोबारा पटरी पर लाया जा सके।




लेकिन अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि ये सभी कंपनियां कैसे काम करेंगी। सूत्रों के मुताबिक इस हफ्ते के बाद कंपनियों की बैठक हो सकती है।
रिपोर्ट के मुताबिक हिंदुजा जेट एयरवेज के कर्जदाताओं से भी मिलेंगे।




दरअसल एतिहाद एयरवेज शॉर्टलिस्टेड बिडर था। एडिग्रो एविएशन अनसोलिकेटेड बिडर्स है। SBI इन दिनों अनसॉलिसिटेड बिडर्स से बातचीत कर रहा है। एसबीआई कैपिटल इस पूरी बोली प्रक्रिया की निगरानी कर रहा है।



SBI ने एतिहाद एयरवेज को बोली लगाने के लिए शार्टलिस्ट किया गया था। लेकिन अबू धाबी स्थित एयरलाइंस माइनॉरिटी स्टेक ही रखना चाहती है। एतिहाद एयरवेज की जेट एयरवेज में 24 फीसदी हिस्सेदारी है।



जेट को खरीदने के लिए सिर्फ एतिहाद ही बची है। हालांकि एतिहाद 1700 करोड़ रुपए से अधिक नहीं खर्च करना चाहती। इतनी रकम जेट एयरवेज के लिए पर्याप्त नहीं है। जेट को उबारने के लिए कम से कम 15 हजार करोड़ रुपए की जरूरत है। आठ हजार करोड रुपए से अधिक बैंकों का कर्ज, कर्मचारियों की सैलरी जैसी बहुत सी चीजें बकाया हैं।
फिलहाल हिंदुजा ग्रुप जेटएयरवेज का एवैल्यूशन कर रहा है। कुल मिलकार जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल को एतिहाद एयरवेज को ओर से हरी झंडी मिल गई है।