Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

SBI की गारंटी लोन स्कीम का फायदा बहुत कम लोगों को मिलेगा, जानिए क्यों?

रेजिडेंशियल बिल्डर फाइनेंस विद बायर गारंटी लोन फाइनेंसिंग स्कीम के पैमानों के मुताबिक, अभी सिर्फ एक प्रोजेक्ट है
अपडेटेड Jan 23, 2020 पर 09:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इस साल जनवरी की शुरुआत में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने रेजिडेंशियल बिल्डर फाइनेंस विद वायर गारंटी (RBBG) स्कीम लॉन्च किया। इस स्कीम के तहत लोन लेने वालों का फायदा यह है कि अगर कोई परियोजना लटक गई तो ग्राहकों की मूल रकम उन्हें वापस मिल जाएगी। हालांकि इस स्कीम का फायदा चुनिंदा लोगों को ही मिल सकता है।


इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, प्रॉपर्टी कंसल्टेंट सैविल्स इंडिया के सीईओ अनुराग माथुर ने कहा, "जो होमबायर्स पहले ही SBI से लोन लेकर उन परियोजनाओं में पैसे लगा चुके हैं जो SBI से जुड़े नहीं हैं तो उन्हें इस स्कीम का फायदा नहीं होगा।" इसके साथ ही सबसे बड़ी चुनौती प्रोजेक्ट की क्वालिटी और डेवलपमेंट रिस्क का आकलन करना है। SBI की योजना इस स्कीम को देश भर के 7 शहरों में लॉन्च करने की है।


वैसे तो इसकी पहली शर्त यह है कि जिन परियोजनाओं में SBI ने पैसा लगाया होगा, उन्हीं में इस स्कीम का फायदा मिलेगा। लेकिन फिर भी स्कीम की शर्तें ऐसी हैं कि SBI फाइनेंस वाले हर प्रोजेक्ट को इसका फायदा नहीं मिलेगा। इस स्कीम का फायदा उन प्रोजेक्ट्स पर भी नहीं मिलेगा जिसमें SBI सहित मल्टीमल लेंडर्स ने पैसा लगाया हो। इसका फायदा 7 शहरों के उन परियोजनाओं में ही मिलेगा जिसमें SBI का आंशिक निवेश हो।


SBI की प्रेस रिलीज के मुताबिक, "रेजिडेंशियल बिल्डर फाइनेंस विद बायर गारंटी लोन फाइनेंसिंग स्कीम के तहत देशभर के 7 शहरों में SBI अप्रूव्ड परियोजनाओं के ग्राहकों को इसका मिलेगा।" इन 7 शहरों में मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन (MMR), नेशनल कैपिटल रीजन (NCR), हैदराबाद, बेंगलुरु, पुणे, कोलकाता और चेन्नई है। यह स्कीम अभी कॉरपोरेट क्लाइंट ग्रुप की चुनिंदा SBI शाखाओं में उपलब्ध है।      


फिलहाल सिर्फ एक प्रोजेक्ट है जो इन पैमानों पर खरा उतर रहा है। माथुर ने कहा, "यह सिर्फ एक प्रोजेक्ट है जो असल में सनटेक रियल्टी का पायलट प्रोजेक्ट है।" सनटेक रियल्टी मुंबई की रियल एस्टेट कंपनी है। यानी फिलहाल SBI की स्कीम का फायदा दिलाने वाला एक ही प्रोजेक्ट है। मुमकिन है कि आगे आने वाले दिनों में दूसरे डेवलपर भी इसके दायरे में आएंगे। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।