Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

आगे कारोबार में दिखेगी अच्छी ग्रोथ: मास्टेक

कंपनी की ऑर्डर बुक में इंग्लैंड की हिस्सेदारी 80 फीसदी जबकि अमेरिका की हिस्सेदारी 20 फीसदी रही है।
अपडेटेड Apr 23, 2019 पर 15:10  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर मास्टेक है। सालाना आधार पर देखें तो वित्त वर्ष 2019 में कंपनी का मुनाफा करीब 45 फीसदी बढ़ गया है। वित्त वर्ष 19 की चौथी तिमाही में कंपनी की आय 0.8 फीसदी बढ़कर 247.1 करोड़ रुपये हो गई जबकि पिछली तिमाही में यह 265 करोड़ रुपये रही थी। चौथी तिमाही में कंपनी का एबिटडा 35.28 करोड़ रुपये रहा जबकि पिछली तिमाही में 34 करोड़ रुपये था। वहीं एबिटडा मार्जिन पिछली तिमाही के 12.8 फीसदी से बढ़कर 13.2 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर देखें तो कंपनी का मुनाफा तीसरी तिमाही के 26.5 करोड़ रुपये से 3.3 फीसदी बढ़कर 27.4 करोड़ रुपये रहा है।


मास्टेक का वित्त वर्ष 19 में ऑर्डर बुक पिछले साल के 517.3 करोड़ रुपये से बढ़कर 544.9 करोड़ रुपये हो गया है। कंपनी के पास 244.5 करोड़ रुपये नकद जमा हैं। मार्च तिमाही में कंपनी ने 7 क्लाइंट जोड़े जबकि पूरे साल में 37 क्लाइंट जोड़े। इस प्रकार कुल मिलाकर मार्च तक कंपनी के पास 157 क्लाइंट हो गये हैं। वहीं टॉप 5 क्लाइंट की कंपनी के आय में 41.7 फीसदी हिस्सेदारी रही जबकि टॉप 10 क्लाइंट ने कंपनी की आय में 58.8 फीसदी का योगदान दिया।


सीएनबीसी-आवाज़ के साथ बातचीत करते हुए मास्टेक के ग्रुप एफसीओ अभिषेक सिंह ने कहा कि कंपनी का अमेरिका में डिजिटल कॉमर्स बिजनेस अच्छी ग्रोथ रही है। हालांकि इंग्लैंड से कंपनी को सबसे ज्यादा बिजनेस आते हैं। सिंह ने आगे बताया कि कंपनी की ऑर्डर बुक में इंग्लैंड की हिस्सेदारी 80 फीसदी जबकि अमेरिका की हिस्सेदारी 20 फीसदी रही है।


पिछले दो तिमाहियों में अमेरिका में डीग्रोथ के कारण आय में कमी आई है। इसलिए वहां पर रिसेट या रिस्ट्रक्चरिंग करने का निर्णय लिया है और उम्मीद है कि उसके बाद वहां पर ग्रोथ में तेजी आ सकती है। दूसरी तरफ मार्जिन में तेजी कंपनी द्वारा पिछले तीन सालों में कंपनी द्वारा की गई विभिन्न पहल का नतीजा है।