Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

अडानी ग्रुप में बड़ा इनवेस्टमेंट रखने वाले 3 FPI पर NSDL की सख्ती, मॉरीशस में है रजिस्ट्रेशन

इन FPI ने अपनी नेटवर्थ का 96 प्रतिशत से अधिक अडानी ग्रुप की कंपनियों में इनवेस्ट किया है
अपडेटेड Jun 16, 2021 पर 00:38  |  स्रोत : Moneycontrol.com

नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) के अडानी ग्रुप की कंपनियों में हिस्सेदारी रखने वाले तीन फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स (FPI) के एकाउंट्स ब्लॉक करने की रिपोर्ट के बाद सोमवार को इन कंपनियों के शेयर्स में भारी गिरावट आई। NSDL ने अल्बुला इनवेस्टमेंट फंड, क्रेस्टा फंड और APMS फंड के एकाउंट ब्लॉक किए हैं।


इन तीनों FPI के पास अडानी एंटरप्राइसेज, अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी ट्रांसमिशन और अडानी टोटल गैस में 43,500 करोड़ रुपये से अधिक के शेयर्स हैं।


इन कंपनियों के शेयर्स की वैल्यू सोमवार को 40,058 करोड़ रुपये घट गई। Trendlyne के डेटा से पता चलता है कि इन तीनों FPI की नेटवर्थ 41,046 करोड़ रुपये है और इसमें से 96 प्रतिशत से अधिक का अडानी ग्रुप की इन कंपनियों में इनवेस्टमेंट किया गया है।


मार्च के अंत तक इन फंड्स के पास अडानी ग्रुप की चार कंपनियों में 2.1 प्रतिशत से 3.9 प्रतिशत के बीच हिस्सेदारी थी। मनीकंट्रोल के कैलकुलेशन के अनुसार, अडानी पावर, अडानी एंटरप्राइसेज, अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी ट्रांसमिशन और अडानी टोटल गैस में इनकी हिस्सेदारी की वैल्यू पिछले वर्ष मार्च के अंत से पिछले शुक्रवार तक 10 गुणा से अधिक बढ़ी है।


इन FPI का रजिस्ट्रेशन मॉरीशस में है और इनमें से दो अल्बुला इनवेस्टमेंट फंड और APMS इनवेस्टमेंट फंड का पता भी समान है।


अडानी ग्रुप की कंपनियों के टॉप 12 इनवेस्टर्स में ये FPI शामिल हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।