Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

फ्रैंकलिन के बॉस ने कहा, 6 डेट स्कीम्स बंद करने की वजह सेबी का एक नियम

सेबी ने अक्टूबर 2019 में म्यूचुअल फंड हाउस पर एक नियम लगाया था जिसकी वजह से फ्रैंकलिन टेम्पल्टन की मुश्किल बढ़ गई, जानिए क्या था वह नियम
अपडेटेड May 08, 2020 पर 08:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फ्रैंकलिन टेम्पल्टन (Franklin Templeton) के ग्लोबल चीफ ने 6 डेट स्कीम बंद करने के बाद पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है। आखिर क्यों फंड हाउस को अपनी ये 6 डेट स्कीम्स बंद करनी पड़ी? इस पर फ्रैंकलिन टेम्पल्टन के इस बड़े अधिकारी का कहना है कि इसके लिए कुछ हद तक अक्टूबर 2019 में मार्केट रेगुलेटर सेबी का एक नियम भी जिम्मेदार है। आखिर क्या है यह नियम?


इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रैंकलिन के CEO जेनिफर जॉनसन (Jennifer Johnson) ने बताया, सेबी ने म्यूचुअल फंड हाउस के लिए यह अनिवार्य कर दिया था कि वह अपनी स्कीम के कुल कॉरप्स या फंड का 10 फीसदी से ज्यादा अनलिस्टेड नॉन-कंवर्टिबल डिबेंचर्स (NCDs) में नहीं लगा सकते हैं।


कंपनी के नतीजों के बाद एक कॉन्फ्रेंस कॉल पर जॉनसन ने बताया कि सेबी के इस नियम के बाद  उनके फंड का करीब एक तिहाई हिस्सा "अनाथ" हो गया क्योंकि सर्कुलर के बाद अनलिस्टेड NCDs में ट्रेड नहीं हो सकता था।


जॉनसन ने एनालिस्ट्स को बताया, "भारत में AAA रेटिंग से नीचे किसी प्रोडक्ट को निवेश के लायक नहीं समझा जाता था। हाई यील्ड मार्केट भारत में अभी काफी छोटा है। हमारे पास ऐसे काफी फंड थे। असल में ये 6 फंड ही ऐसे थे जिन्होंने इस तरीके के प्राइवेट डेट में निवेश किया था। दुर्भाग्य से अक्टूबर 2019 में सेबी यह नियम लेकर आ गया कि अनलिस्टेड इंस्ट्रूमेंट में 10 फीसदी से ज्यादा निवेश नहीं किया जा सकता और आप उनमें ट्रेड भी नहीं कर सकते हैं।" जॉनसन ने कहा कि वे तब ये एसेट्स बेचना चाहते थे लेकिन इस नियम की वजह से खरीदार नहीं मिल पा रहे थे।


Franklin Templeton India ने अपने 6 डेट फंड बंद कर दिए हैं। इससे निवेशकों के करीब 28,000 करोड़ रुपए अटक गए हैं। फंड हाउस का यह फैसला 23 अप्रैल से लागू है। यानी 24 अप्रैल से निवेशक इस फंड से अपना पैसा नहीं निकाल पा रहे हैं और ना ही कोई नया निवेश कर पा रहे हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।