Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

डिजिटल ट्रांजैक्शन में फ्रॉड, बैंकिंग ऑनलाइन सर्विस से ग्राहक परेशान!

RBI को हर महीने ऑनलाइन लेन-देन, डेबिट-क्रेडिट कार्ड और ATM से जुड़ी लगभग 25 हजार शिकायतें मिल रही है।
अपडेटेड Jan 17, 2020 पर 11:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

डिजिटल ट्रांजैक्शन को लेकर एक चौकांने वाला आंकड़ा सामने आया है। RBI को हर महीने ऑनलाइन लेन-देन, डेबिट-क्रेडिट कार्ड और ATM से जुड़ी लगभग 25 हजार शिकायतें मिल रही है। बैंकिंग ऑनलाइन सर्विस में फ्रॉड के बढ़ते आंकड़ों से डिजिटल ट्रांजैक्शन मुहिम को झटका लगा है। हर महीने RBI को ऑनलाइन फ्रॉड की 25,000 से ज्यादा शिकायतें मिलती हैं। RBI के CMS यानी कंप्लेंट मैनेजमेंट सिस्टम में करीब 1.5 लाख शिकायतें दर्ज हैं। इनमें से 40,000 शिकायत नेट बैंकिंग, फंड ट्रांसफर से जुड़ी हुई हैं। वहीं, डेबिट-क्रेडिट कार्ड, ATM से 35,000 शिकायतें जुड़ी हैं। इन शिकायतों में UPI, QR कोड और मोबाइल बैंकिंग शिकायतें भी शामिल हैं। आरबीआई को सरकारी और प्राइवेट दोनों बैंकों के खिलाफ शिकायतें मिलीं हैं। नई दिल्ली, मुंबई और बंगलुरू से सबसे ज्यादा शिकायतें मिली।


बैंकों के खिलाफ RBI को मिली इन शिकायतों पर नजर डालें तो SBI के खिलाफ मिलीं इस तरह की शिकायतों की संख्या 42,000 है तो HDFC के खिलाफ 11,000 शिकायतें मिली हैं। वहीं ICICI के खिलाफ 8,500 शिकायतें दर्ज हैं। अब ज्यादातर लोग ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने लगे हैं। नोटबंदी के बाद से तो ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने वालों की संख्या में खूब बढ़ोतरी हुई है। लेकिन इसके बाद से लोगों के साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी की घटनाएं भी उसी अनुपात में बढ़ी है। लेकिन ऑनलाइन ट्रांसफर से जहां लोगों को सुविधा मिली है वहीं मुश्किलें भी बढ़ी हैं। आरबीआई और बैंकों में ऑनलाइन फ्रॉड की शिकायतों का अंबार लगने लगा है जिससे इकोनॉमी के डिजिटलीकरण की मुहिम को धक्का लग रहा है।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।