Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

आगे नये एनपीए होने की उम्मीद कमः Federal Bank

बैंक के मार्केट शेयर में सुधार हुआ है इस वर्ष इसमें 8 बेसिस प्वाइंट की बढ़त देखने को मिली है।
अपडेटेड Jan 22, 2020 पर 09:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में Federal Bank का मुनाफा 440.6 करोड़ रुपये हो गया है जबकि अनुमान था कि इसी तिमाही में बैंक को 384 करोड़ रुपये का मुनाफा होगा।


वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में Federal Bank की ब्याज आय 1,154.9 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है जबकि इस तिमाही में बैंक की ब्याज आय 1,169.6 करोड़ रुपये रहने का अनुमान था।


तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में Federal Bank का ग्रॉस एनपीए 3.07 फीसदी से घटकर 2.99 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर दूसरी तिमाही में Federal Bank का नेट एनपीए 1.59 फीसदी से बढ़कर 1.63 फीसदी रहा है।


रुपये में देखें तो तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में Federal Bank का ग्रॉस एनपीए 3,612.1 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,618.7 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में Federal Bank का नेट एनपीए 1,843.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,941 करोड़ रुपये रहा है।


तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में फेडरल बैंक की प्रोविजनिंग 251.8 करोड़ रुपये से घटकर 160.9 करोड़ रुपये रही है जबकि पिछले साल की तीसरी तिमाही में फेडरल बैंक की प्रोविजनिंग 190.1 करोड़ रुपये रही थी।


फेडरल बैंक के ED और CFO आशुतोष खजूरिया ने नतीजों पर सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत करते हुए कहा कि नतीजों को इस परिप्रेक्ष्य में देखा जाना चाहिए कि नतीजों को बाहरी माहौल कैसा रहा और बैंकिंग इंडस्ट्री में कितने प्रतिशत की ग्रोथ रही। इस लिहाज से देखा जाये तो यदि बैंकिंग सिस्टम की क्रेडिट ग्रोथ सालाना आधार पर 7 प्रतिशत रही तो फेडरल बैंक की क्रेडिट ग्रोथ 13 प्रतिशत रही है।


इसलिए इसको तुलनात्मक रुप से देखना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि बैंक के मार्केट शेयर में सुधार हुआ है इस वर्ष इसमें 8 बेसिस प्वाइंट की बढ़त देखने को मिली है। बैंक एनपीए कम करने की दिशा में फोकस कर रहा है इसलिए आगे नये एनपीए होने की उम्मीद कम है।


मार्केट एक्सपर्ट समीर कालरा कहना है इस शेयर पर उनका न्यूट्रल नजरिया है। इसलिए इसमें 104 का लक्ष्य रखकर इसमें खरीदारी करके होल्ड करना चाहिए। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook(https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।