Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Zomato और होटलों के बीच खिंची तलवार, होटल वालों ने रखी पांच मांगें

अगर आप जोमेटो से ऑर्डर करते हैं तो आने वाले वक्त में आपको दिक्कत हो सकती है
अपडेटेड Dec 09, 2019 पर 14:44  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

होटल, रेस्टोरेंट और जोमेटो के बीच तलवार खिंच गई है। होटल वालों ने साफ कह दिया है कि अगर जोमेटो मनमानी नहीं रोकेगी तो वो उनसे रिश्ता तोड़ लेंगे। वहीं जोमेटो का कहना है कि वो फ्री मार्केट के नियम से काम कर रही है।


अगर आप जोमेटो से ऑर्डर करते हैं तो आने वाले वक्त में आपको दिक्कत हो सकती है। जोमेटो की मनमानी से होटल वाले परेशान हैं। होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशंस ऑफ इंडिया यानि HRAWI, AHAR जैसे संगठनों ने तेवर कड़े कर लिए हैं। उनका मानना है कि अगर जोमेटो उनकी शर्तें नहीं मानेगी तो कॉन्ट्रैक्ट तोड़ लेंगे। साथ ही, जरूरत हुई तो जोमेटो को CCI में भी ले जाएंगे।


ये पूरा मसला शुरु हुआ जोमेटो की मनमानी से। होटल और रेस्टोरेंट वालों का कहना है कि जोमेटो बिना उनसे सलाह किए ही उन पर अपना ऑफर थोप देती है। इसलिए अब उन्होंने जोमेटो के सामने 5 प्वाइंट का एजेंडा रखा है। इसमें कोई भी ऑफर लाने से पहले उनसे सलाह ली जाए। होटल की कीमत पर कस्टमर को लुभावने ऑफर न दिए जाए। होटल के मुनाफे का ख्याल रखा जाए। होटल या रेस्टोरेंट पर अपना रुल ना थोंपे। एग्रीगेटर ही बने रहें, खाना बनाने के काम में ना उतरें।


एक रेस्टोरेंट ने जब शिकायत की तो जोमैटो ने रेस्टोरेंट के साथ सारा काम बंद कर दिया। इस बारे में जोमेटो का कहना है कि वो फ्री मार्केट पॉलिसी के नियमों के हिसाब से काम करती है। हम होटल संगठनों की चिंताओं को दूर करने के लिए काम कर रहे हैं। हम किसी होटल या रेस्टोरेंट के साथ कोई प्रतिस्पर्धा नहीं रखते। जोमेटो और होटल एसोसिएशन के बीच अगर मामले ने तूल पकड़ा तो इस लड़ाई में कस्टमरों की  मुश्किलें बढ़ सकती हैं।  ऑर्डर मिलने में तो दिक्कत होगी ही, ग्राहकों की जेब पर भी बोझ बढ़ेगा।    
 


 सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।