Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

PM मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की शिवांगी सिंह बनीं राफेल फाइटर जेट की पहली महिला पायलट

मां सीमा सिंह ने कहा कि बेटी ने जो सपना देखा था, उसे पूरा किया है
अपडेटेड Sep 24, 2020 पर 16:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

चीन के साथ सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच भारतीय सेना नारी के सशक्त स्वरूप का गवाह बन रही है। फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह (Flight Lieutenant Shivangi Singh) दुनिया की सर्वोत्तम श्रेणी के युद्धक विमानों में एक राफेल फाइटर जेट की पहली महिला पायलट बनने जा रही हैं। फाइटर जेट राफेल के स्क्वाड्रन गोल्डन एरो में पहली महिला फ्लाइट लेफ्टिनेंट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) की शिवांगी सिंह (Shivangi Singh) शामिल हुई हैं। वाराणसी के फुलवरिया स्थित शिवांगी के घर पर पड़ोस के बच्चे जुटे और परिवार के साथ खुशियां मनाईं। शिवांगी की इस सफलता पर मां सीमा सिंह ने कहा कि बेटी ने जो सपना देखा था, उसे पूरा किया है। फिलहाल, शिवांगी की पोस्टिंग इस समय राजस्थान में है।


Conversion ट्रेनिंग पूरा होते ही राफेल में उड़ान भरेगी Kashi Girl


शिवांगी सिंह Conversion Training पूरा करते ही वायुसेना के अंबाला (Ambala) एयरबेस पर 17 Squadron Golden Arrows में औपचारिक एंट्री लेंगी। किसी पायलट को एक फाइटल जेट से दूसरे फाइटर जेट में स्विच करने के लिए Conversion Training लेने की जरूरत होती है। हालांकि, MiG-21 उड़ा चुकीं शिवांगी के लिए राफेल उड़ाना कोई चुनौतीपूर्ण काम नहीं होगा, क्योंकि MiG 340 किमी प्रति किमी की स्पीड के साथ दुनिया का सबसे तेज लैंडिंग और टेक-ऑफ स्पीड वाला जेट है।


माता-पिता ने बताया शिवांगी की पूरी कहानी


शिवांगी के बचपन के बारे में उनकी मां ने बताया कि वह शुरू से ही पढ़ने में होनहार थीं। शुरुआती स्कूलिंग के बाद उच्च शिक्षा के लिए बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) पढ़ने गई थीं। एक महीने के तकनीकी ट्रेनिंग में क्वालीफाई करने के बाद अब वह राफेल की टीम का हिस्सा बन गई हैं। राफेल जैसे ही भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल मिग-21 बाइसन की जगह लेंगे, शिवांगी इस भूमिका में आ जाएंगी। शिवांगी के पिता कुमारेश्वर सिंह ने बताया कि हम लोगों को गर्व है कि हमारी बेटी देश का नाम रोशन करेगी।


BHU में ही वह नेशनल कैडेट कोर में 7 UP एयर स्क्वाड्रन का हिस्सा थीं। बीएचयू से 2013 से 2015 तक NCC कैडेट रहीं। साथ ही सनबीम भगवानपुर से BSC किया। शिवांगी दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड में 2013 में उत्तर प्रदेश टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। उन्होंने 2016 में ट्रेनिंग के लिए वायु सेना अकादमी ज्वाइन की थी। पिछले 16 दिसंबर 2017 को ही हैदराबाद स्थित एयर फोर्स अकादमी में उन्हे फाइटर पायलट का तमगा मिला था। हैदराबाद में ट्रेनिंग पूरी होने के बाद शिवांगी इस समय MiG-21 की फाइटर पायलट हैं।


बिटिया ने बढ़ाया मान


कुमारेश्वर सिंह ने बताया कि बिटिया ने मान बढ़ाया है। पिता ने बताया कि एक दिन पहले ही बेटी से बात हुई तो जानकारी मिली। बेटी पर हमें नाज है। वह अन्य बेटियों के लिए एक नजीर बनी है। इसे जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि अब बस बिटिया को राफेल उड़ाते देखने का सपना है, वो भी पूरा हो जाएगा। शिवांगी की मां सीमा सिंह गृहिणी हैं और भाई मयंक बनारस में 12वीं का छात्र है। शिवांगी को फाइटर पायलट बनने का जुनून उनके कर्नल रह चुके नाना से मिला था। साल 2015 में ये सपना तब पूरा हुआ, जब भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) में उनका सेलेक्शन फ्लाइंग अफसर के रूप में हुआ था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।