Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Bharti AXA General Insurance को खरीदने की तैयारी में ICICI Lombard

अधिगृहण की यह योजना ऐसे समय में हो रही है जब देश में कोरोना वायरस के चलते आर्थिक सुस्ती का माहौल है
अपडेटेड Aug 11, 2020 पर 14:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (ICICI Lombard General Insurance Co. Ltd) देश का सबसे बडा प्राइवेट नॉन-लाइफ इंश्योरर है। भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस लिमिटेड ((Bharti AXA General Insurance Co. Ltd) को आईसीआईसीआई लोंबार्ड के साथ मर्ज किया जा सकता है। लाइव मिंट में छपी खबर के मुताबिक, दोनों कंपनियां भारती एक्सा के वैल्यूएशन पर बातचीत कर रही हैं। ICICI Lombard का मार्केट शेयर 8.4 फीसदी है और ICICI Bank Ltd में 51.89 फीसदी का मालिकाना हक है।


ICICI Lombard जून तिमाही में 3,302.19 करोड़ का ग्रॉस प्रीमियम कम हुआ है जो कि पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 5.3 फीसदी कम है। हालांकि इस दौरान पूरी इंडस्ट्री में मंदी का दौर चल रहा है। वहीं Bharti AXA General ने जून तिमाही में ग्रॉस प्रीमियम में 508.93 करोड़ की साल दर साल आधार पर 12 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।


अधिग्रहण की यह योजना ऐसे समय में बन रही है, जब कोरोना वायरस के चलते आर्थिक सुस्ती का माहौल है। मौजूदा समय में 25 जनरल इंश्योरेंस कंपनियों के जून तिमाही में 6 फीसदी की गिरावट देखी गई है। इसमें स्टैंडअलोन हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों को छोडकर है। लंबे समय तक लॉकडाउन के चलते ज्यादातर आर्थिक गतिविधियां नहीं होने के चलते पॉलिसी की बिक्री में गिरावट देखी गई है।


दोनों कंपनियां अभी भी चर्चा में हैं और यह योजना है कि ICICI Lombard भारती एंटरप्राइजेज और एक्सा दोनों की पूरी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी। भारती एक्सा का कारोबार बहुत कम है, लेकिन दोनों कंपनियां मर्जर करने के लिए तैयार हैं। वैल्यूएशन को लेकर अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया है। भारती एंटरप्राइजेज के पास मौजूदा समय में भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस की 51 फीसदी हिस्सेदारी है, जबकि फ्रेंच इंश्योरर AXA की 49 फीसदी हिस्सेदारी है।


यह साफ है कि भारती एंटरप्राइजेज लंबे समय से अपने फाइनेंशियल सर्विस (financial services) बिजनेस से बाहर निकलने की कोशिश कर रही है। साल 2016 में भारती एक्सा लाइफ इंश्योरेंस और भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस में उस समय 74 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के साथ बातचीत शुरू हुई थी। लेकिन डील किसी नतीजे पर नहीं पहुंची। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://ttter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।