Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

मई-जून तक Covid-19 संकट समाप्त हुआ तो सितंबर तक सुधर जायेगा कारोबारः Repco Home Finance

यशपाल गुप्ता ने कहा कि कंपनी को एनपीए को लेकर ज्यादा चिंता नहीं है क्योंकि हमारे पास लोन के समक्ष प्रॉपर्टी सिक्योरिटी के तौर पर है।
अपडेटेड Apr 27, 2020 पर 17:40  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर Repco Home Finance है। इसका मार्केट कैप 700 करोड़ रुपये है। ये स्टॉक अपने साल के उच्च स्तर 447 रुपये से करीब 75 प्रतिशत नीचे कारोबार कर रहा है। सालाना आधार पर कंपनी का तीसरी तिमाही में डिस्बर्समेंट 10.6 प्रतिशत कम रहा है। इसकी लोन बुक ग्रोथ भी अभी तक सबसे कम यानी 9.4 प्रतिशत रही है।


REPCO HOME FINANCE का 52 हफ्तों का उच्च स्तर 447 रुपये रहा है जबकि 52 हफ्तों का निचला स्तर 105 रुपये है। कंपनी का मार्केट कैप 700 करोड़ रुपये है। कंपनी के प्रोमोटर रेप्को बैंक की इसमें 37.13 प्रतिशत हिस्सेदारी है।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में कंपनी की नेट ब्याज आय 10.4 प्रतिशत बढ़कर 131 करोड़ रुपये रही जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में कंपनी की नेट ब्याज आय 119 करोड़ रुपये रही।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 25 प्रतिशत बढ़कर 69.7 करोड़ रुपये रहा जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 55.6 करोड़ रुपये रहा।


कंपनी के MD & CEO यशपाल गुप्ता ने सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत करते हुए कहा कि कोविड-19 की महामारी के चलते सभी सेक्टर प्रभावित हुए हैं। इसमें एनबीएफसी के कारोबार पर भी असर पड़ा है। लेकिन हमारी कंपनी की अन्य एनबीएफसी कंपनियों की तुलना में लिक्विडिटी है। इसलिए कंपनी को बहुत ज्यादा दिक्कत आने की संभावना कम है।


उन्होंने कहा कि आरबीआई ने जो 3 महीने की मोहलत दी है। वह देखते हुए दी गई थी मई में देश में गर्मी ज्यादा पड़ती है जिससे कोरोना का संकट खत्म हो जायेगा परंतु यदि ये संकट आगे बढ़ा तो आरबीआई द्वारा 3 महीनें की मोहलत को बढ़ाया भी जा सकता है।


एनपीए को लेकर चिंता के बारे में यशपाल गुप्ता ने कहा कि कंपनी को एनपीए को लेकर ज्यादा चिंता नहीं है क्योंकि हमारे पास लोन के समक्ष प्रॉपर्टी सिक्योरिटी के तौर पर है। जिससे एनपीए को लेकर कंपनी ज्यादा चिंतित नहीं है और अप्रैल में कंपनी का 33 प्रतिशत कलेक्शन हुआ है।


उन्होंने आगे कहा कि लॉकडाउन हटने के बाद भी डिमांड पर असर पड़ेगा। लेकिन मई से जून तक अगर कोविड संकट समाप्त हो जाता है तो सितंबर तक कंपनी के हालात सुधर जायेंगे। संकट हटने के बाद घर की डिमांड में सुधार आयेगा क्योंकि लोगों को घर की आवश्यकता पड़ता है और इससे ग्रोथ पटरी लौटने की उम्मीद है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।